संवाद सूत्र, निगदू (करनाल)। ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा कथित रूप से दहेज मांगने व पत्नी से मारपीट की शिकायत देने से क्षुब्ध युवक ने जहरीला पदार्थ निगल लिया, जिससे उसकी हालत बिगड़ गई। उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया। यहां सेवाएं मौजूद न होने पर करनाल के कल्पना चावला राजकीय अस्पताल में भर्ती करवाया गया। वहीं जहर निगलने से पहले सतपाल ने एक नोट लिखा, जिसमें उसने अपने परिवार के माफी मांगते हुए ससुराल पक्ष के लोगों को यह कदम उठाने का जिम्मेदार बताया है।

कारसा डोड वासी सतपाल गांव में ही खेतों में सबमर्सीबल आदि मोटर को ठीक करने का अपना काम करता है। 10 महीने पहले उसकी शादी संधीर निवासी सिमरन से हुई थी। आरोप है कि युवती पक्ष के लोगों द्वारा सतपाल को परिवार से अलग होने का दबाव बनाया जा रहा था। इस पर उसकी पत्नी अपनी मायके चली गई थी, जहां पर उन्होंने लड़के पक्ष के परिवार के लोगों द्वारा दहेज मांगने व मारपीट की शिकायत दी हुई है।

मंगलवार को दोनों पक्षों को सुनवाई के लिए थाना बुटाना मेें बुलाया हुआ था। दोपहर बाद करीब साढे तीन बजे जैसे ही युवक पक्ष के लोग पंचायत में जाने के लिए सतपाल का इंतजार कर रहे थे तो उन्हें किसी ने सूचना दी कि उसने अपने खेत में कोई जहरीली दवाई निगल ली है। पता चलते ही स्वजन मौके पर पहुंचकर उसे उपचार के लिए ले गए। निगदू सीएचसी से उन्हें करनाल रेफर किया गया। सतपाल का अभी ईलाज चल रहा है।

पिता बोला, बेबुनियाद आरोप लगाए

उधर सतपाल के पिता धर्मपाल ने बताया कि जब उनका बेटा दबाव के बावजूद परिवार से अलग न हुआ तो कर्मबीर अपनी बेटी सिमरन को अपने साथ घर ले गया था। उन्होंने थाना बुटाना में हमारे सारे परिवार के सदस्यों के नाम लिखकर दहेज मांगने व मारपीट की शिकायत दी हुई है। उन पर बेबुनियाद आरोप लगाए गए हैं। पंचायत में भी कोई हल नहीं निकला। इसी के चलते सतपाल ने यह कदम उठा लिया।

यह लिखा नोट

जहर निगलने से पहले सतपाल ने नोट में लिखा कि उसके ससुर कर्मबीर, सास रानी, पत्नी सिमरन व साले सौरभ ने थाने में दहेज मांगने व मारपीट करने की झूठी शिकायत दी। इससे समाज में तंग आकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर रहा हूं। इसका जिम्मेदार मेरा ससुर, सास, पत्नी व साला होंगे।

युवक ने फंदा लगाकर दी जान

करनाल : एक युवक ने संदिग्ध परिस्थिति में फंदा लगाकर जान दे दी। कर्ण विहार वासी करीब 42 वर्षीय कृष्ण का शव फंदे पर लटका मिला है, जिसे पुलिस ने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के बाद स्वजनों को सौंप दिया। बताया जा रहा है कि मृतक ने यह कदम उठाने से पहले सुसाइड नोट भी लिखा है, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है। घटना के समय कृष्ण की पत्नी दोनों बच्चों को साथ लेकर मायके गई हुई थी। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है। सेक्टर 32-33 थाना एसएचओ जितेंद्र ढिल्लो का कहना है कि मामले की हर पहलू से जांच शुरू कर दी गई है।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Edited By: Umesh Kdhyani