करनाल, जागरण संवाददाता। करनाल में पत्नी को दिल्ली चुनाव कार्यालय में अधिकारी बताते हुए एक व्यक्ति को वर्क आर्डर दिलाने का झांसा देकर पांच लाख रुपये ठग लिए जाने का मामला सामने आया है। शिकायत मिलने पर पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस को मिली शिकायत के अनुसार

न्यू अशोक नगर वासी सतीश शर्मा ने शिकायत में आरोप लगाते हुए बताया कि दिल्ली वासी आरोपित कपिल अरोड़ा ने उन्हें बताया कि उनकी पत्नी रोबिन चुनाव कार्यालय दिल्ली में अधीक्षक के तौर पर तैनात है। उनके पास उत्तरप्रदेश के चुनाव अधिकारियों द्वारा कोविड आदि के अलावा चुनाव सामग्री को लेकर उसे व दिल्ली के एक अन्य व्यक्ति को वर्क आर्डर दिलावाया हुआ है। 60 लाख रुपये का वर्क आर्डर हर जिला का है।

यहीं नहीं आरोपितों ने जिला निर्वाचन अधिकारी फिरोजाबाद से संबंधित भी कुछ दस्तावेज दिखाए। उन्होंने व एक जानकार ने उन पर भरोसा कर लिया और अलग-अलग समय पर पांच लाख रुपये दे दिए। आरोपितों ने सहारनपुर व बिजनौर के वर्क आर्डर को लेकर प्रार्थना पत्र भी मंगवाए।

इसके बाद अन्य जिलों के भी वर्क आर्डर संबंधित पत्र की मांग की, लेकिन आरोपितों ने उन्हें वर्क आर्डर नहीं दिए। फरवरी माह में जब उनके पास एक वर्क आर्डर भेजा तो जांच करने पर वह फर्जी पाया गया। जिसके बाद आरोपितों ने संपर्क करना ही बंद कर दिया और वे समझ गए कि उनके साथ धोखाधड़ी की गई है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

इधर... साइबर ठग ने बैंक खाते से निकाले एक लाख 34 हजार रुपये

जागरण संवाददाता, करनाल। साइबर ठग ने एक उपभोक्ता को बातों में उलझाकर करीब एक लाख 34 हजार रुपये का चूना लगा दिया। अर्जुन गेट वासी मयंक शर्मा ने बताया कि उन्होंने गुगल से लिए एक कस्टमर केयर के नंबर पर संपर्क किया था। तभी आरोपित ने उससे एनी डेस्क एप डाउनलोड कराई तो आगे प्रक्रिया भी पूरी कराई गई।

तभी उसके बैंक खाते से अलग-अलग समय पर एक लाख 34 हजार 396 रुपये निकल गए। यह देख वह हैरान रह गया और तत्काल ही पोटर्ल के जरिए शिकायत भी दर्ज कराई। वहीं स्थानीय थाने में भी शिकायत दी, जिसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपित की तलाश शुरू कर दी है।

Edited By: Naveen Dalal