जागरण संवाददाता, पानीपत : डाइंग उद्यमी प्रमोद गुप्ता के हत्यारोपित रवि और नीरज वैसे तो आठवीं तक भी नहीं पढ़े लेकिन एमबीए पास पुलिस अफसर को जरूर बरगला रहे हैं। दोनों ने पहले शाहजहांपुर से देशी पिस्तौल खरीदने की बात कही। वे अब कैराना से खरीद लाने की कह रहे हैं। इससे पहले इन्होंने अपने नाम गलत बताए थे।

सीआइए-टू पानीपत दोनों अभियुक्तों रवि और नीरज को रिमांड के दौरान रविवार को कैराना में संदिग्ध स्थानों पर लेकर पहुंची। पुलिस ने दोनों आरोपितों से उनके बताए पते पर छापा मारा लेकिन पुलिस को यहां पर कुछ नहीं मिला। उक्त स्थानों पर लोगों ने दोनों को पहचानने से इन्कार कर दिया। वहीं पुलिस आरोपितों से अन्य वारदातों की भी जानकारी ले रही है।

आरोपितों ने अब तक ये बोले दो झूठ

नंबर-एक

दोनों ने वारदात के दिन पुलिस को अपने नाम कमल और सूरज बताया था। दोनों से सख्ताई के साथ पूछताछ की तो कमल का असली नाम रवि पुत्र मुन्नाराम निवासी कादराबाद बदायुं और खुद को सूरज बताने वाला आरोपित नीरज पुत्र रामरत्न निवासी कोडरा बदायुं उप्र मिला। दोनों मध्यमवर्गीय किसान परिवार से हैं। वे दोनों पानीपत में अपने पैरों पर खड़े होने के लिए आए थे।

नंबर -दो

रवि और नीरज ने रविवार को प्राथमिक पूछताछ में पुलिस को बताया था कि उन दोनों ने उप्र के शाहजहांपुर से 15 हजार रुपये में दोनों देशी पिस्तौल खरीदे थे। पुलिस जब उनको शाहजहांपुर पहचान कराने के लिए ले जाने लगी तो दोनों ने कैराना से देशी कट्टे लाने की बताई। पुलिस को आरोपितों के तीसरे बयान पर भी शक

उन दोनों ने बताया कि मोटरसाइकिल 12500 रुपये में खरीदी थी। पुलिस को मोटरसाइकिल भी चोरी करने का शक है। इसकी भी पड़ताल की जा रही है। उन दोनों ने फैक्ट्री मालिक के साथ लूटपाट की डेढ़ माह से योजना बनाने की कही है। पुलिस अब आरोपितों ने इस दौरान अन्य कोई वारदात अंजाम देने संबंधित जानकारी जुटा रही है। इसको लेकर सेक्टर-29 पार्ट-टू में लूट और छीना झपटी के मामलों और सूचनाओं की जांच पड़ताल कर रही है।

उद्यमियों ने डीसी और एसपी से मिलने का समय मांगा

डाइंग उद्यमी प्रमोद गुप्ता की लूट की नीयत से फैक्ट्री में घुसकर हत्या करने के बाद उद्यमी सहमे हुए हैं। डायर्स एसोसिएशन के प्रधान भीम राणा ने शहर के औद्योगिक और व्यापारिक इकाइयों के पदाधिकारियों से बातचीत कर डीसी और एसपी को मैसेज भेजकर मिलने का समय मांगा। डीसी सुमेधा कटारिया ने उनके मिलने की मांग पर तीन बार मैसेज का रिप्लाई किया। उन्होंने तीनों मैसेजों में सोमवार को मिलने की कही। भीम राणा ने बताया कि वे डीसी और एसपी से सोमवार 12 बजे मिलेंगे। ये चार मुद्दे रखेंगे उद्यमी

1. सेक्टर-29 पार्ट-टू में गश्त बढ़ाई जाए।

2. औद्योगिक सेक्टर के चारों प्रमुख चौक चौराहों पर सायं 7 से रात 11 बजे तक पुलिस की चे¨कग लगाई जाएं।

3. सेक्टर-20 पार्ट-टू में जल्द से जल्द बनाए नए थाने को शुरू किया जाए।

4. व्यापारियों को आ‌र्म्स लाइसेंस दिए जाएं। गुप्ता के डाई हाउस समेत बाकी 500 इंडस्ट्री तीसरे दिन हुई चालू

डाई हाउस मालिकों ने प्रमोद गुप्ता हत्याकांड के बाद शनिवार को अपनी फैक्ट्रियां बंद कर दी थी। सेक्टर में करीब 500 डाई हाउस बंद थे। नवदुर्गा प्रोसेस में परिजनों ने रविवार को गंगाजल का छिड़काव किया। कार्यालय में बिखरा सामान व्यवस्थित किया। डाई हाउस के अधिकारियों के अनुसार सोमवार को पूरी तरह से काम शुरू कर दिया जाएगा। डायर्स एसोसिएशन के प्रधान भीम राणा ने बताया कि फैक्ट्रियों में रविवार को काम शुरू कर दिया है। गार्ड बोला- मालिक की मौत का मलाल, मैं तो काम छोड़ दूंगा

नवदुर्गा प्रोसेस के गार्ड रमेश ने बताया कि वह बिहार के आरा जिला का रहने वाला है। पानीपत में किराए पर रह रहा है। वह शुक्रवार को वारदात के वक्त फैक्ट्री के गेट पर था। दोनों हत्यारे उसके सामने से होकर अंदर दाखिल हुए। दोनों ने उसे बताया था कि वे धागा एजेंट हैं। वह दोनों को गेट पर ही रोक लेता तो शायद मालिक बच सकते थे। गार्ड की नौकरी आसान नहीं है। हर किसी की चे¨कग नहीं कर सकते। किसी बड़े आदमी को रोक लो तो नौकरी जाने का डर रहता है। वह अब गार्ड की नौकरी तक छोड़ देगा। उसको अपने गांव जाकर खेती-बाड़ी कर परिवार पालना ही ठीक लग रहा है। वह सोमवार को फैक्ट्री में दोबारा काम शुरू होने के बाद मालिक के बेटों के सामने भी अपनी बात रखेगा। वर्जन

दोनों आरोपितों से चार दिन के रिमांड के दौरान डाइंग उद्यमी प्रमोद गुप्ता की हत्या और अन्य मामलों की पूछताछ की जा रही है। हत्यारोपित अपने बयान बार-बार बदल रहे हैं। वे अब देशी पिस्तौल कैराना से लाने की बात कह रहे हैं।

योगेश कुमार, प्रभारी, सीआईए-टू, पानीपत।

Posted By: Jagran