यमुनानग/रादौर, जागरण संवाददाता। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने लखीमपुर की घटना मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। राकेश टिकैत ने कहा कि सीधे तौर पर कहा कि टेनी अवैध कारोबार से जुड़ा है। लोग उससे डरते हैं। जिस कारण उस क्षेत्र में कोई भी व्यक्ति उसके खिलाफ बोलने के लिए तैयार नहीं है। वह जांच को प्रभावित कर सकता है। इसलिए किसान मोर्चा जांच से पहले मंत्री की बर्खास्तगी की मांग कर रहा है।

अगर जांच के दौरान वह मंत्री पद पर रहा तो घटना की निष्पक्ष जांच नहीं हो पाएगी। राकेश टिकैत रविवार को भाकियू जिला अध्यक्ष सुभाष गुर्जर के पिता हुकम सिंह के निधन पर आयोजित शोक सभा में शोक व्यक्त करने के लिए गांव धौडग़ पहुंचे थे। इससे पूर्व वह रादौर में युवा समाजसेवी हरजिंद्र मल्ली के एसके मार्ग स्थित कार्यालय पर भी रूके थे। जहां उन्होंने किसान आंदोलन को लेकर लोगों से विचार विमर्श किया। 

ये मांगे हुई पूरी

राकेश टिकैत ने कहा कि लखीमपुर की घटना के बाद किसान मोर्चा ने सरकार के समक्ष पीड़ित परिवार को सरकारी नौकरी, मुआवजा, आरोपित की गिरफ्तारी व जांच की मांग रखी थी। इसमें से सभी मांग करीब करीब पूरी हो चुकी है। आरोपी के पिता मंत्री है इसलिए मोर्चे की ओर से उनकी बर्खास्तगी की मांग भी रखी गई है। लेकिन सरकार का कहना है कि यह कार्य केंद्र सरकार के अधीन है। उनकी इस मांग को केंद्र सरकार को पूरा करना है।

26 को लखनऊ में महापंचायत

किसान मोर्चा अपनी इस मांग को पूरा करवाने का भी प्रयास कर रहा है। किसान मोर्चा का आंदोलन जारी रहेगा। 12 अक्टूबर को लखीमपुर में बैठक रखी गई है जिसमें आगामी रणनीति तैयार की जाएगी। 15 को सरकार का पुतला जलाने व 18 को 6 घंटे के लिए रेल रोकने  का कार्यक्रम है। 26 को लखनऊ में महापंचायत रखी गई है। जिसमें पूरे देश से किसान भाग लेगें और आगामी रणनीति तैयार करेंगे।

कांग्रेस पार्टी की भूमिका को लेकर उन्होंने कहा कि कांग्रेस अपना काम कर रही है। उससे उनका कोई वास्ता नहीं। उन्होंने कांग्रेसी नेताओं को इतना जरूर कहा है कि वह पीडि़त परिवार की मदद करे। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष रत्तनसिंह मान, सुभाष गुर्जर, चौधरी मेवाराम, डीएसपी सुभाषचंद, आदर्शपाल, सतीश दत्ताना, साहब सिंह, रायसिंह इत्यादि उपस्थित थे।

Edited By: Naveen Dalal