कुरुक्षेत्र, जागरण संवाददाता। पिपली से थर्ड गेट सड़क पीडब्ल्यूडी अधिकारियों व ठेकेदार की लड़ाई के चलते निर्माण का समय पूरा हाेने के बाद भी अधूरी पड़ी है। बात उठती है तो दोनों बारिश का बहाना बना देते हैं। अब तक सड़क का काम 45 फीसद ही पूरा हो पाया है। हालात यह है कि सड़क के चलते बारिश आने पर पानी की निकासी तक ठप हो जाती है। इधर ठेकेदार सड़क निर्माण का समय बढ़ाने की मांग कर रहा है, लेकिन पीडब्ल्यूडी के अधिकारी इसमें भी रास्ता नहीं दे रहे। सड़क का काम शुरू होने के बाद अब तक पीडब्ल्यूडी के सात जेई और कंपनी के 13-14 कर्मचारी बदले जा चुके हैं। इन सबका खामियाजा शहरवासियों को भुगतना पड़ रहा है। विधायक सुभाष सुधा भी पांच बार सड़क का मौका मुआयना कर चुके हैं, लेकिन दोनों में से किसी पर भी कोई असर नहीं है।

शहर की लाइफ लाइन खतरे में

पिपली से कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के थर्ड गेट तक सड़क शहर की लाइफ लाइन मानी जाती है। इस पर शहर का पूरा ट्रैफिक रहता है। करीब छह साल से सड़क निर्माण में चल रही है। पीडब्ल्यूडी ने 18 महीने पहले सड़क निर्माण के लिए एक नई फर्म को टेंडर दिया था। इस हिसाब से नौ अगस्त 2021 तक सड़क बनकर तैयार हो जानी चाहिए। धरातल पर देखें तो सड़क का निर्माण कार्य 45 फीसद ही पूरा हो पाया है।

पिपली से थर्ड गेट मार्ग तक निर्माणधीन सड़क पर उड़ती धूल से निजात दिलाने के लिए टैंकर से पानी गिराते हुए।

पानी और सीवर के मनमर्जी से काट रहे कनेक्शन

पिपली रोड के दोनों तरफ नाला आसपास के लोगों के लिए सबसे ज्यादा परेशानी का सबब बना हुआ है। सेक्टर-7 व 13 और मोहन नगर में पानी निकासी तक की समस्या आ गई है। दुकानों के आगे नाले के बीच में खाली जगह हादसों को चिंता बढ़ा रहा है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि नाले मनमर्जी से बनाया जा रहा है। सीवरेज के कनेक्शन मनमर्जी से काट दिए गए हैं। दुकानदार काम पूरा कराने को मजबूर हैं। पिछले सप्ताह दुकानदार और लोगों ने पैसे इकट्ठे कर पानी और सीवर के कनेक्शन जुड़वाए थे। एडवोकेट सुरेंद्र गोयल ने बताया कि अधिकारियों का इस तरफ कोई ध्यान नहीं है और ही ठेकेदार काम पूरा करने को तैयार है।

एसडीओ और ठेकेदार विधायक के सामने ही भिड़े

विधायक सुभाष सुधा ने शुक्रवार को सर्किट हाउस में पीडब्ल्यूडी व दूसरे विभागों के अधिकारियों की बैठक ली थी। इसी बीच पिपली से थर्ड गेट सड़क का ठेकेदार शशांक गर्ग पहुंच गया। ठेकेदार ने कहा कि पीडब्ल्यूडी की शर्तानुसार काम किया जा रहा है। अब सड़क के साथ मिट्टी डालने की बात कही जा रही है, जबकि ठेके में इसको स्पष्ट नहीं किया गया है। अधिकारी पत्र लिखने के बाद भी पेड़ और बिजली केे खंभों को नहीं हटवा रहे। उसका टेलीफोन एक्सचेेंज की तरफ 80 मीटर और इसके दूसरी तरफ एक किलोमीटर नाला बाकी है। अधिकारी इसमें किसी तरह की सुनवाई नहीं करते। पीडब्ल्यूडी के एक एसडीओ ने कहा कि मैं तो हाथ जोड़ता हूं। ठेकेदार किसी का कहना नहीं मानता। पीडब्ल्यूडी के सात जेई और कंपनी के 13-14 कर्मचारी बदल चुके हैं।

निर्माण कार्य बारिश के कारण बंद

पीडब्ल्यूडी के एक्सईएन अरुण भाटिया ने बताया कि पिपली से थर्ड गेट सड़क का निर्माण कार्य लगातार चल रहा है। अब बारिश के चलते काम बंद है। अगले दो-तीन दिन में मौसम सामान्य होने पर सड़क का निर्माण शुरू करा दिया जाएगा।

ठेकेदार और अधिकारी एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं

विधायक सुभाष सुधा ने कहा कि ठेकेदार और अधिकारियों को पिपली रोड पर कई बार ले जाया गया है। उनको कई बार चेतावनी भी दी गई है। शुक्रवार को भी दोनों को पूरा मौका दिया था। ठेकेदार और अधिकारी एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं। मौसम साफ रहने पर एक सप्ताह में पिपली से सड़क के एक हिस्से की एक लेयर पूरी कर दी जाएगी।

Edited By: Rajesh Kumar