कैथल, जागरण संवाददाता। कुरुक्षेत्र से सांसद नायब सैनी ने कहा कि भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार में प्रदेश ने विकास के नये आयाम स्थापित किए हैं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल और उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला लोगों की अपेक्षाओं पर खरा उतर रहे हैं। अकेले ऐलनाबाद हलके में सरकार ने 700 करोड़ रुपये विकास कार्यों पर खर्च किए हैं। यह आंकड़ा 1400 करोड़ रुपये होता, अगर अभय सिंह चौटाला अपने हलके की आवाज को विधानसभा में उठाते। कैथल से विधायक रहे रणदीप सिंह सुरजेवाला की तरह अभय चौटाला ने भी कभी विधानसभा में अपने हलके के विकास को लेकर बात तक नहीं की। नायब सैनी वीरवार को भाजपा जिला मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के सात साल पूरे होने पर भाजपा कार्यकर्ता घर-घर जाकर लोगों को पार्टी की नीतियों के बारे में बता रहे हैं। आज प्रदेश के एक गांव से 200 से 300 तक युवा नौकरी लगे हैं। अभय चौटाला ऐलनाबाद में 17 साल से राज करते आए हैं, लेकिन उन्होंने वोट लेकर कभी वहां के लोगों को सम्मान तक नहीं दिया।

डीएपी किल्लत पर नायब सैनी ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते खाद उत्पादन में कमी आई है। यही वजह से आज किसानों को खाद की समस्या आ रही है, लेकिन जल्दी ही सभी किसानों को डीएपी उपलब्ध करा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि धान खरीद में किसी भी किसान को इस बार दिक्कत नहीं आने दी गई। सीजन पहले दो से ढाई महीने चलता था, लेकिन मशीनी युग की वजह से यह सिमट कर 20 दिन का रह गया है। धान का उत्पादन भी ज्यादा हुआ। इसके चलते बने दबाव के कारण कुछ दिक्कतें रही हैं। इस माैके पर जिलाध्यक्ष अशोक गुर्जर, भीमसेन अग्रवाल, सुरेश संधू, आदित्य भारद्वाज, प्रवीण प्रजापति, नरेश मित्तल, गोपाल सैनी व राजबीर कादियान मौजूद रहे।

विधायकों की पीड़ा को टाल गए सांसद

पूंडरी के विधायक रणधीर गोलन और कैथल के विधायक लीला राम द्वारा अधिकारियों पर उनकी सुनवाई नहीं किए जाने के आरोपों के सवाल को सांसद नायब सैनी टाल गए। उन्होंने कहा कि विधायकों की अपनी पीड़ा हो सकती है। गोलन और लीला राम से उनके घर जैसे संबंध हैं। दोनों को मना लेंगे।

Edited By: Anurag Shukla