पानीपत, जागरण संवाददाता। Kisan Mahapanchayat: रोहतक के मकड़ौली टोल पर किसानों की महापंचायत का असर पानीपत तक पड़ा है। पानीपत में रोहतक रोड पर डाहर के नजदीक सभी वाहनों को रोक दिया गया है। केवल दोपहिया वाहनों को ही आगे जाने दिया जा रहा है। चार पहिया वाहनों को वहीं रोककर वापस भेजा जा रहा है। इससे इसराना या आसपास जाने वाले लोगों के लिए मुसीबत खड़ी हो गई। उन्हें कोई विकल्प दिए बिना लौटाया जा रहा है। लोगों का कहना है कि कम से कम ये तो बता दें कि आगे किस रास्ते से जाएं। किसानों की महापंचायत की वजह से उन्हें क्यों परेशान किया जा रहा है।

मकड़ौली में किसान नेता राकेश टिकैत पहुंच चुके हैं। रोहतक में प्रवेश के रास्ते पर पुलिस का पहरा है। पानीपत की तरफ से रोहतक में वाहन पहुंचते हैं। पानीपत से करीब 70 किलोमीटर पहले ही वाहनों को आगे बढ़ने से रोका जा रहा है। परेशानी उन लोगों के लिए ज्यादा है जिन्हें नौल्था, इसराना जाना है। उन्हें घूमकर आगे जाना होगा।

रोहतक में नहीं जा सकेंगे

पानीपत से रोहतक जाने के लिए फिलहाल रास्ता बंद है। जब तक महापंचायत चलेगी, तब तक रोहतक में वाहन इंट्री नहीं कर सकते। किसी को अगर जाना है तो कच्चे रास्ते से निकल सकता है। लेकिन ये रास्ता भी आसान नहीं है। आगे भी पुलिस रोक सकती है। दिल्ली की तरफ से जाएंगे तो दो से तीन गुना तक सफर बढ़ जाएगा।

इसराना में इस तरह पहुंच लोग

इसराना जाने के लिए अब लोग हड़ताड़ी, बुड़शाम से होकर नौल्‍था निकल रहे हैं। नौल्था से सीधा रास्ता इसराना निकलता है। एक तरह से जो रास्ता सीधा मिलता था, अब घूमकर जाना पड़ रहा है। लोगों का कहना है कि रोहतक के पास वाहनों को रोक सकते थे। पानीपत में वाहनों को क्यों रोका जा रहा है। पानीपत प्रशासन को आम लोगों की समस्या को समझना चाहिए।

Edited By: Anurag Shukla