कैथल, जागरण संवाददाता। Karwa Chauth 2021: करवा चौथ पर्व 24 अक्टूबर को मनाया जाएगा। पर्व को महज चार दिन शेष रह गए हैं। ऐसे में जैसे-जैसे यह पर्व नजदीक आ रहा है, बाजारों में भी अधिक भीड़ उमड़ रही है। इस पर्व को लेकर बाजारों में आई राजस्थानी चूड़ियां महिलाओं की पहली पंसद बनी है। बाजार में पर्व को लेकर राजस्थान के जयपुर से चूड़ा व चूड़ियां आ रही है। जिसे महिलाएं खूब पसंद कर रही हैं। इसके साथ ही कास्टमेटिक की दुकानों पर भी नई-नई आइटम आ रही है।

बाजारों में पूरी रौनक है। पर्व को लेकर महिलाओं द्वारा तैयारियों के तहत सामान की खरीदारी की जा रही है। पर्व को लेकर शहर में सभी मुख्य बाजारों में भी चूड़ियों व कास्टमेटिक सामान के स्टाल लगाए गए हैं। जहां पर महिलाएं खरीदारी करने के लिए पहुंच रही हैं। दुकानदारों का कहना है कि इस बार पर्व का सीजन शुरू होने के बाद पिछले वर्ष की अपेक्षा अच्छा कार्य है। जिससे अच्छा कारोबार होने की उम्मीद है।

राजस्थान के जयपुर से चूड़ा व चूड़ियां आ रही

दुकानदार सन्नी कुमार ने बताया कि करवा चौथ पर्व को लेकर महिलाओं में चूड़ियां व चूड़ा खरीदने को लेकर भी खासा उत्साह है। राहत की बात यह भी है कि इस बार चूड़ियों के दामों में कोई इजाफा नहीं हुआ है। जिसके चलते दाम सामान्य है। इस बार राजस्थान के जयपुर से चूड़ा व चूड़ियां आ रही हैं।, जो महिलाओं की पहली पसंद बनी है। सन्नी ने बताया कि इस बार चूड़ियों के साथ आने वाले कड़ों के भी आकर्षक नए डिजाइन आए हैं। जो खूब पसंद किए जा रहे हैं और इनकी डिमांड अधिक है। इसकी ब्रिकी भी अधिक है। चूड़ियों की कीमत 70 रुपये से लेकर 200 रुपये की कीमत है। जबकि चूड़े 350 से एक हजार रुपये तो कड़े 80 रुपये से लेकर 250 रुपये तक की कीमत है।

त्योहारी सीजन में लग रहा जाम, वाहन चालक परेशान

एक तरफ जहां इस बार त्योहारी सीजन में करवा चौथ पर्व को लेकर बाजारों में महिलाओं की भीड़ जुट रही है। वहीं, मुख्य बाजारों में त्योहारी सीजन में जाम लग रहा है। वाहन चालक परेशान है। पर्व के चलते जिला प्रशासन द्वारा भी अभी यातायात व्यवस्था बनाने के लिए कोई प्रबंध नहीं किए गए हैं। जिस कारण जगह-जगह जाम की स्थिति बन रही है। यहां लगने वाला जाम में एक वाहन चालक को 10 से 15 मिनट लगते हैं।

Edited By: Anurag Shukla