जागरण संवाददाता, जींद। दीपावली, करवा चौथ के साथ वैवाहिक कार्याें को लेकर बाजार में ज्वेलरी की खूब खरीदारी होने लगी है। आभूषण खरीदने वाले ग्राहकों की सराफा बाजार में काफी रौनक देखने को मिल रही है। ग्राहकों आभूषणों की खरीदारी के लिए बुकिंग भी करवा रहे हैं। सोने व चांदी के साथ आर्टीफिशियल ज्वेलरी खरीदने वाले ग्राहकों की दुकानों पर भीड़ लगी हुई है।

पिछले वर्ष वैश्विक महामारी कोरोना के चलते सराफा बाजार ठंडा पड़ा हुआ था। इस वर्ष त्योहारों से पहले बाजारों में रौनक लौटी है। वहीं वैवाहिक कार्यक्रम शुरू हो रहे हैं। विवाह के लिए भी बाजार में लोग आभूषणों खरीद रहे हैं। मंगलवार को 24 कैरेट सोना के भाव 49 हजार 350 रुपये व 22 कैरेट के 46 हजार 882 रुपये रेट रहे। चांदी का रेट भी 67 हजार रुपये प्रति किलोग्राम रहा।

सोने की ब्राइडल रिग व जंजीर की मांग

सराफा बाजार में इस समय सोने के आभूषणों में ब्राइडल रिग, जंजीर, चूड़ी, कालर सेट, मंगलसूत्र की अधिक मांग है। वहीं चांदी के आभूषणों में पाजेब, बिछुआ, हाफ कमरबंद को सबसे ज्यादा पसंद किया जा रहा है। ग्राहकों द्वारा नए- नए डिजाइनों की मनपसंद ज्वेलरी बनवाने के लिए एडवांस बुकिग कराई जा रही है।

आर्टीफिशियल ज्वेलरी का भी क्रेज

शादी व समारोह वाले लोग आर्टीफिशियल ज्वेलरी को भी खरीद रहे हैं। इसमें सबसे अधिक चिक व पोल्की सेट के साथ ब्राइडल सेट भी खूब पसंद किए जाते हैं। इसमें सबसे अधिक खरीदारी बेटे व बेटियों के विवाह को लेकर हो रही है।

20 प्रतिशत तक बढ़ी है मांग: प्रदीप कुमार

पिछले वर्ष कोरोना से काम धंध मंदा था। इस वर्ष 20 प्रतिशत तक बढ़ोतरी हुई है। आगामी दिनों में त्योहारों के सीजन में ओर ज्यादा डिमांड बढ़ने का अनुमान है। आर्टीफिशियल ज्वेलरी में आकर्षक सेट दुकानों पर उपलब्ध हैं। नवंबर के महीने में ओर ज्यादा ज्वैलरी बिकने का अनुमान है।

पिछले वर्ष से इस वर्ष अच्छी होगी खरीदारी: दीपक श्योरान

त्योहारी व विवाहिक सीजन शुरू हो गया है। अब आने वाले दिनों में ज्वैलरी की अधिक मांग बढ़ सकती है। कोरोना से पिछले साल काम धंधा मंदा रहा था, अब कुछ काम धंधा में उछाल आने की संभावना है। पिछले वर्ष से अभी अच्छी खरीदारी होनी शुरू हो गई है। ग्राहक नए- नए डिजाइन की ज्वेलरी तैयार करवा रहे हैं।

शादियों के लिए ज्वेलरी के एडवांस आर्डर

कोरोना की वजह से पिछले साल कारोबार अच्छा नहीं रहा था। शादियां भी नहीं हो पाई थी, जिस कारण लोगों ने ज्वेलरी नहीं खरीदी। अब मार्केट खुल चुकी है। नवंबर में शादियां होनी हैं, जिसके लिए ज्वेलरी के काफी आर्डर आए हुए हैं। करवा चौथ के लिए भी ज्वेलरी खरीद रहे हैं।

Edited By: Naveen Dalal