करनाल, जागरण संवाददाता। करनाल में नीरज बवाना गैंग के गुर्गे पकड़े गए हैं। ये गुर्गे उत्‍तर प्रदेश से करनाल आ रहे थे। इनके पास से भारी मात्रा में कारतूस भी मिला है। पुलिस को अंदेशा है कि ये किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में हरियाणा आए थे। पुलिस पूछताछ कर रही है। करनाल पुलिस करनाल की स्पेशल स्टाफ असंध टीम द्वारा तीन आरोपी तो को अवैध हथियारों सहित गिरफ्तार किया गया है। रविवार शाम के समय एसआई रामफल इंचार्ज सीआईए असंध के नेतृत्व में कार्यरत टीम व एएसआइ सतीश कुमार की अध्यक्षता में टीम महाराणा प्रताप चौक गोली टी-प्वाइंट सालवन पर मौजूद थी। सूचना प्राप्त हुई कि एक काले रंग की गाडी स्‍कार्पियो गांव बल्ला की तरफ से अंसध की जाएगी।

इसमें अरविन्द, अमित और अमन कुमार सवार है और उनके पास भारी मात्रा में अवैध हथियार हैं। सूचना के आधार पर टीम द्वारा महाराणा प्रताप चौक पर नाकाबंदी शुुरू की दौरान नाकाबंदी कुछ ही समय बाद एक काले रंग की गाडी स्कार्पियो गांव बल्ला की तरफ से आती हुई दिखाई दी। गाडी को रुकवाकर उसके बैठे लोगों से पूछताछ की तो उन्होने अपने नाम अमित वासी नाहरी जिला सोनीपत, अरविन्द वासी मॉडल टाउन पानीपत व अमन कुमार वासी गांव रामरा जिला जींद बताया। तलाशी लेने पर गाडी से दो अवैध पिस्तौल, दो मैगजीन व 66 जिंदा कारतूस बरामद किये गये। स्कार्पियों को भी पुलिस टीम द्वारा कब्जा पुलिस में लिया गया। इस संबंध में आरोपियों के खिलाफ थाना असंध में शस्त्र अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया।

बदमाशों से पूछताछ

मामले की आगामी तफ्तीश एएसआई अशोक कुमार सीआइए असंध को सौंपी गई। आरोपी तो से पूछताछ में खुलासा हुआ कि वे कुख्यात गैंगस्टर नीरज बवाना के गैंग के सदस्य हैं और उपरोक्त अवैध हथियारों व कारतूसों को उत्तर प्रदेश के एक शहर से खरीदकर लाये थे। जांच में खुलासा हुआ कि अरविन्द के खिलाफ पहले भी वर्ष 2015 में स्पैशल सैल दिल्ली में एक मामला शस्त्र अधिनियम व वर्ष 2019 में एक मामला थाना कंजावला दिल्ली में शस्त्र अधिनियम के तहत दर्ज है। आरोपियों को आज अदालत में पेश किया जाएगा और उन्हें रिमांड पर लेकर गहनता से पूछताछ की जाएगी।

Edited By: Anurag Shukla