जींद/नरवाना, जेएनएन। हिसार-चंडीगढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग पर ट्रैक्टर चालक से खिलौना पिस्तौल दिखाकर 4500 रुपये लूटने के तीन आरोपितों को पुलिस ने चमेला कालोनी से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने तीनों आरोपितों को कोर्ट में पेश कर एक दिन के रिमांड पर लिया है। ताकि अन्य वारदातों का पता चल सके।

फतेहाबाद जिले के गांव बुर्ज निवासी गुरमीत सिंह ने पुलिस को शिकायत दी थी। उसने बताया था कि 11 अप्रैल की देर रात को वह अपने गांव के सुरजीत के साथ ट्रैक्टर-ट्राली में पराली भरकर करनाल जा रहा था। देवीलाल स्कूल के पास मोटरसाइकिल पर तीन नकाबपोश बदमाशों ने उसके ट्रैैक्टर के आगे मोटरसाइकिल अड़ा दी। तीनों बदमाशों में से एक ने पिस्तौल दिखाकर पैसे देने की बात कही थी। जबकि दूसरों ने थप्पड़ व डंडा मारा था। इसके बाद वे तीनों 4500 रुपये छीनकर मौके से फरार हो गए थे।

पुलिस के सामने किया खुलासा

पुलिस ने तीन बदमाशों द्वारा रुपये लूटने की घटना के बाद एसएचओ धर्मबीर के दिशा-निर्देश में तफ्तीश तेज की। वारदात में गांव डूमरखां कलां निवासी दीपक, गुरमेल, गौरव उर्फ मोटा शामिल पाए गए। पुलिस ने तीनों के कब्जे से लूटी हुई राशि और मोटरसाइकिल बरामद की है। पुलिस को आरोपितों ने बताया कि वे खिलौना पिस्तौल दिखाकर वारदात को अंजाम देते थे। 

सब्जी विक्रेताओं से रुपये छीनने की वारदात में थे शामिल

गांव डूमरखां कलां के तीनों आरोपित दीपक, गुरमेल व गौरव उर्फ मोटा द्वारा ट्रैक्टर चालक से रुपये छीनने की कोई पहली घटना नहीं थी। इससे पहले वे दो-तीन वारदातों को अंजाम दे चुके थे। उन्होंने नरवाना की सब्जी मंडी में आ रहे सब्जी विक्रेताओं को निशाना बनाया गया था। गांव ढाकल व हथो के बीच में दो सब्जी विक्रेताओं से चाकू के बल पर रुपये छीने थे। एक गोशाला रोड पर फतेहाबाद निवासी पिकअप चालक से भी सुबह के समय रुपये छीने थे। लगातार हो रही ये वारदात पुलिस के लिए पहेली बनी हुई थी। जोकि अब इनके पकड़े जाने पर सभी वारदात हल हो गई। 

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप