जागरण संवाददाता, पानीपत : सोमवार को लगातार हल्की बारिश बूंदाबांदी होने से जन जीवन प्रभावित हुआ। दोपहर दो बजे ही बादल छा गए। चार बजे बूंदाबांदी शुरू हो गई। देर रात तक हल्की बारिश जारी रही। मौसम विभाग के अनुसार पानीपत में औसतन 5 एमएम बारिश दर्ज की गई। बारिश होने से शहर के ज्यादातर इलाकों में बिजली आपूर्ति बाधित हो गए। कई इलाकों में तो देर रात तक बिजली आपूर्ति सुचारू नहीं हो पाई।

बीते शनिवार और रविवार को भी सुबह बूंदाबांदी हुई। मौसम विभाग के अनुसार 5 जनवरी तक बारिश और उसके बाद शीतलहर चलने के आसार हैं। सात जनवरी के बाद तापमान में गिरावट आने के साथ ठंड बढ़ने के आसार हैं।

जगह-जगह पानी भरा

जगह-जगह पानी भरने से लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी। हल्की बारिश लगातार होने से दोपहिया वाहन चालक परेशान रहे। कार्यालयों से घर जाने वाले कर्मचारियों को भी बारिश में भीगते हुए जाना पड़ा। बारिश लगातार होने व बिजली आपूर्ति ठप पड़ने से बाजारों में समय से पहले दुकानें बंद हो गईं। वाहन सरक-सरक कर चले। चार बजे ही बारिश होने के कारण रेहड़ी लगाने वालों को अपना कारोबार समेटना पड़ा।

वायु गुणवत्ता में सुधार

बारिश और तेज हवा से वायु गुणवत्ता में सुधार हुआ है। हवा में प्रदूषण का स्तर मध्यम श्रेणी में पहुंच गया। एयर क्वालिटी इंडेक्स सोमवार को 162 दर्ज किया गया। शून्य से 50 के बीच एक्यूआइ को अच्छा माना जाता है। 51 से 100 के बीच संतोष जनक, 100 से 200 के बीच मध्यम, 201 से 300 के बीच खराब, 301 से 400 के बीच बेहद खराब और 401 से 500 के बीच गंभीर माना जाता है।

बिजली आपूर्ति ठप

बारिश और तेज हवा चलने के कारण 33 केवी सहित 11 केवी फीडरों की बिजली आपूर्ति ठप पड़ गई। सवा तीन बजे से देर रात तक कई फीडर चालू नहीं हो पाए। सेक्टर 11-12 रात दस बजे ब्रेकडाउन हो गया। फाल्ट को तलाशने के लिए टीमें जुटी रही। सेक्टर 24, सेक्टर 25 तथा आसपास लगती कालोनियों की आपूर्ति भी ठप रही। अर्बन फीडर, खुखराना, सुताना की बिजली आपूर्ति भी देर रात तक बंद रही। 33 केवी मनाना 3 से 6 बजे तक बंद रहा। 33 केवी सनौली रोड 4.34 से 5.45 तक बंद रहा। 33 केवी सेक्टर 24 की बिजली आपूर्ति 4.36 से 8.50 तक बाधित रही। निगम अधिकारियों के अनुसार 33 केवी के फीडर चार पांच घंटे में चालू हो गए। 11 केवी के कुछ फीडर चल नहीं पाए।

Edited By: Jagran