जागरण संवाददाता, पानीपत : बांग्लादेश की किशोरी को देह व्यापार के धंधे में धकेलने वाले अंतरराज्यीय मानव तस्कर गिरोह की परतें खुलनी शुरू हो गई हैं। तहसील कैंप चौकी पुलिस ने अजय और मनु को साथ लेकर दिल्ली को रोहिणी पॉकेट 6 में मानव तस्कर इंद्रजीत उर्फ राहुल दादा के घर छापा मारकर उसकी पत्नी खुशी को गिरफ्तार किया। पुलिस ने खुशी को अदालत में पेश कर चार दिन के रिमांड पर लिया है।

चौकी प्रभारी रेखा ने बताया कि खुशी व राहुल ने बांग्लादेश की किशोरी को जबरन देह व्यापार के धंधे में उतारा। खुशी से फरार राहुल और संदीप के ठिकानों का पता लगाया जाएगा। वहीं पुलिस ने पीड़ित किशोरी की बाल कल्याण समिति से काउंसिलिग कराई। उसे रिसालू रोड स्थित शेल्टर होम रखा गया है।

आठ हजार रुपये में रसूखदार लोगों के पास भी भेजी जाती थी किशोरी

एसआइ रेखा ने बताया कि पूछताछ में अजय और मनु शर्मा ने कबूल किया है कि वे तीन-चार साल से देह व्यापार का धंधा करा रहे हैं। वह दिल्ली के राहुल से पश्चिम बंगाल, बांग्लादेश और अन्य कई प्रदेशों की युवतियों को चार हजार रुपये प्रतिदिन के हिसाब से कॉल कर मंगवाते थे। इसके बाद आन डिमांड युवतियों को छह से आठ हजार रुपये एक रात के हिसाब से शहर में रसूखदार लोगों के पास भेज देते थे। इन लोगों की कम उम्र की लड़कियों की ज्यादा डिमांड रहती थी। अमन व मनु के मोबाइल की कॉल डिटेल से भी युवतियों को मंगवाने वालों का पता लगाया जा रहा है। शहर में चल रहा था देह व्यापार, पुलिस को भनक तक नहीं

कई साल से शहर में दिल्ली की युवतियां देह व्यापार कर रही थी। पुलिस को भनक तक नहीं लगी। या फिर पुलिस इस धंधे से अंजान बनी हुई थी। हर रोज अजय और मनु सरीखे लोग हजारों रुपये कमा रहे थे। अगर पुलिस सही से मामले की जांच करे तो कई रसूखदार चेहरे बेनकाब हो सकते हैं।

बार-बार बिकती रही किशोरी, राहुल के कब्जे में छह युवतियां हैं

बाल कल्याण समिति की चेयरपर्सन एडवोकेट पदमा रानी ने कहा कि पीड़ित किशोरी ने बताया कि दिल्ली का संदीप उसे ढाका से शादी और ब्यूटी पार्लर खुलवाने का झांसा देकर दिल्ली लाया था। यहां उसने उसके साथ दुष्कर्म किया। फिर उसे दीपक नामक युवक को बेच दिया। दीपक ने दुष्कर्म कर उसे अमित को बेचा। उसने आगे राहुल को बेच दिया। संदीप पहले भी ढाका से कई युवतियों को लाकर दिल्ली में बेच चुका है। राहुल के कब्जे में छह और युवतियां हैं। राहुल दलाल से प्रत्येक युवती के चार-चार हजार रुपये लेता है।

देह व्यापार न करने पर होती थी डंडे से पिटाई, खाना भी नहीं देते थे

पीड़ित किशोरी ने बताया कि राहुल के साथ कई और लोग मिले हुए हैं। उसको एक कमरे में बंद कर रखा था। उसने देह व्यापार करने से मना किया तो राहुल उसकी टांगों पर डंडे मारता था। जान से मारने की धमकी भी दी जाती थी। 24 घंटे उस पर नजर रखी जाती थी। उसे कई बार खाना भी नहीं दिया जाता था। राहुल की पत्नी भी उसे प्रताड़ित करती थी। राहुल ने उसके अलावा चार और युवतियों को देह व्यापार के लिए पानीपत भेजा था।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran