पानीपत, जेएनएन।  अंतरराज्यीय एटीम लूट गिरोह के सरगना पंजाब के जालंधर के न्यू गणेश नगर का इंद्रजीत उर्फ नीतू (47) दसवीं फेल है और वेल्डिंग मैकेनिक का काम करता था। इससे पत्नी व दो बेटों की परवरिश में दिक्कत हो रही थी। जबकि उसके भाई बिजनेसमैन हैं और करोड़पति हैं। वह भी भाई की तरह करोड़पति बनने और शान-शौकत की जिंदगी जीना चाहता था। इसलिए उसने वेल्डिंग का काम छोड़कर चोरी और एटीएम लूट का रास्ता अपनाया। गिरोह ने कई वारदात खाकी वर्दी पहनकर की हैं।

नीतू ने वर्ष 2010 से 2013 तक चंडीगढ़ से 13 और एक कार पंजाब से चोरी कर ली। चंडीगढ़ में पांच झपटमारी की वारदात की। चोरी की कार का इंजन और चेसिस नंबर बदलकर बेचने में उसे एक से डेढ़ लाख रुपये मिलते थे। इसमें रिस्क ज्यादा था। 2013 में नीतू ने अखबार में पढ़ा कि एटीएम काटकर लाखों रुपये लूट लिए गए। 

पहला एटीएम लूटने में लगे छह घंटे
उसने ससुराल के प्रिंस नामक युवक के साथ मिलकर पंजाब में दो एटीएम लूटे। पहला एटीएम लूटने में उसे छह घंटे का समय लगा। इसके बाद उसने लोहे की छह चादर खरीदी और इन्हें काटने का अभ्यास किया। फिर दोस्त उत्तर प्रदेश के लखीमपुर निवासी अमरीक हाल पता चंडीगढ़ सेक्टर-35 के साथ मिलकर पंजाब, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में एटीएम लूट की 35 वारदात कर डाली। सोनीपत व पानीपत में कार लूट की दो वारदातों को अंजाम दिया। 

 atm loot

सरगना नीतू।

तीन दिन का रिमांड
सीआइए-2 पुलिस ने सोमवार रात को सिवाह के पास पर्ल ढाबे के पास से लूट की कार सहित गिरफ्तार कर 11.10 लाख रुपये, पिस्तौल व एटीएम काटने का सामान बरामद किया था। पुलिस ने आरोपित इंद्रजीत को अदालत में पेश किया, जहां से उसे तीन दिन के रिमांड पर भेज दिया गया।

 atm loot

इसी से एटीएम तोड़ते थे।

पुलिस की गाड़ी बरामद की जाएगी
एसपी सुमित कुमार ने मंगलवार को लघु सचिवालय में प्रेसवार्ता कर बताया कि रिमांड के दौरान आरोपित इंद्रजीत से फरार अमरीक के ठिकानों का पता लगाया जाएगा। इसराना के पास से लूटी पुलिसकर्मी की गाड़ी बरामद की जाएगी।

Edited By: Ravi Dhawan