जागरण संवाददाता, समालखा : उपायुक्त धर्मेंद्र सिंह, सीएमओ जितेंद्र कादियान और डिप्टी सीएमओ नवीन सुनेजा के निरीक्षण के उपरांत उपमंडल अस्पताल (एसडीएच) में कोविड मरीजों के उपचार को हरी झंडी मिल गई है। वीरवार से यहां मरीजों को भर्ती किया जाएगा। पानीपत के एक फिजीशियन की ड्यूटी लगाई जाएगी। 20 ऑक्सीजन कंसट्रेटर भी अस्पताल को उपलब्ध करवाया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि उपमंडल अस्पताल में कोविड वार्ड बनाने की तैयारी पिछले महीने से चल रही थी। ऑक्सीजन सहित फिजीशियन, ऑपरेटर, कंसट्रेटर आदि की कमी से इसे चालू नहीं किया गया। जिला प्रशासन के 5000 लीटर ऑक्सीजन गैस मुहैया कराने से इसमें आ रही बाधा समाप्त हो गई है। सीएमओ ने शेष समस्याओं को भी पूरा करने का भरोसा दिया है। सिविल अस्पताल से आएगा फिजीशियन

सिविल सर्जन कादियान ने बताया कि फिलहाल सिविल अस्पताल के एक फिजीशियन की ड्यूटी लगाई जाएगी। स्थानीय डॉक्टर और स्टाफ उनकी देखरेख में काम करेंगे। ऑक्सीजन फ्लो मीटर यहां पहले से है। 20 कंसट्रेटर इन्हें उपलब्ध करवाया जाएगा। दो ऑक्सीजन ऑपरेटर की व्यवस्था हो चुकी है। तीसरे शिफ्ट के लिए ऑपरेटर की व्यवस्था की जा रही है। पहले 30 बेड से कोविड वार्ड को चालू किया जाएगा।

कोविड वार्ड तक पहुंची ऑक्सीजन

एसएमओ संजय कुमार ने बताया कि कोविड वार्ड के 30 बेडों पर ऑक्सीजन की सुविधा दे दी गई है। ट्रायल रन के दौरान लीक मिली ऑक्सीजन पाइप लाइन को दुरुस्त किया जा रहा है। बिजली बैकअप के लिए जनरेटर की व्यवस्था है। बिजली निगम अधिकारी को भी अस्पताल में निर्बाध सप्लाई उपलब्ध कराने के लिए कहा गया है। अस्पताल को हॉटलाइन से जोड़ने के लिए निगम से एस्टीमेट मांगा गया है।

फायर सिस्टम को दुरुस्त करना है बाकी

अस्पताल में लाखों रुपये के फायर उपकरण लगे हैं। पाइप लाइन भी बिछी हुई है, लेकिन लाइनों को कनेक्ट नहीं किया गया है। वॉल्व भी नहीं लगाए गए हैं। अधिकारी के अनुसार सिस्टम लगाने वाला ठेकेदार बार-बार कहने के बावजूद अनदेखी कर रहा है, जिससे यह चालू नहीं हो सका है।