कुरुक्षेत्र, जेएनएन। कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय ने वैश्विक महामारी को देखते हुए कर्मचारियों के सहयोग के लिए कोविड हेल्प डेस्क का गठन किया है। हेल्प डेस्क में कुवि हेल्थ सेंटर के चिकित्सकों सहित काउंसलिंग के लिए मनोविज्ञान विभाग के शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई है। शिक्षक अलग-अलग तय समय में मोबाइल पर उपलब्ध रहेेंगे और कर्मचारियों के साथ-साथ उनके परिवारजनों की शंकाओं को दूर करेंगे। 

कुवि हेल्थ सेंटर के एडमिनिस्ट्रेटर प्रो. फकीर चंद ने बताया कि कुवि के सभी कर्मचारी कोविड से भयमुक्त होकर सकारात्मकता के साथ अपना बचाव रखें इसी उद्देश्य को लेकर हेल्प डेस्क का गठन किया गया है। इस हेल्प डेस्क के सदस्य चिकित्सक डा. आशीष अनेजा, डा. मीनू गुप्ता व डा. अंकित गौड़ से हर रोज सुबह नौ बजे से शाम साढे पांच बजे तक यूनिवर्सिटी हेल्थ सेंटर व उनके दिए गए फोन नंबर पर संपर्क किया जा सकता है। यूनिवर्सिटी हेल्थ सेंटर में स्थित ये हेल्प डेस्क 24 घंटे सेवाएं देगा। 

इसके साथ ही एक से 15 मई तक कुवि कर्मचारी सुबह छह से दोपहर दो बजे तक सुभाष वर्मा, दोपहर दो बजे से रात 10 बजे तक अशोक कुमार तथा रात 10 से सुबह छह बजे तक रूपेश खन्ना से संपर्क कर सकते हैं। इसके बाद 16 से 31 मई तक सुबह छह से दोपहर 2 बजे तक नीना खुराना , दोपहर दो से रात 10 बजे तक सुरेश कुमार तथा रात 10 से सुबह छह बजे तक समंदर सिंह से संपर्क कर सकते हैं। 

कुलपति प्रो. सोमनाथ सचदेवा ने कहा कि कुवि कर्मचारियों की हर संभव सहायता के लिए कुवि प्रशासन पूरी तरह से वचनबद्ध है। कोविड काल में कर्मचारियों और परिवारजनों के सामने आने वाली समस्याओं को देखते हुए ही हेल्प डेस्क का गठन किया गया है। कुवि लोक संपर्क विभाग के उपनिदेशक डा. दीपक राय बब्बर ने कहा कि इससे पहले कुवि ने कर्मचारियों के कोरोना संक्रमित होने पर उनके घर तक भोजन पहुंचाने के लिए भी मोबाइल नंबर जारी किए हैं।