यमुनानगर, [नरेंद्र शर्मा]। अब सरकारी स्कूलों के बच्चे भी तकनीकी शिक्षा में निपुण हो सकेंगे। जिसको लेकर हरियाणा स्कूल शिक्षा परियोजना परिषद की ओर से प्रदेश भर में 400 राजकीय स्‍कूलों में इंफार्मेशन एंड कम्यूनिकेशन टेक्नोलाजी लैब स्थापित की जाएंगी। इसके लिए जिले के 16 स्कूलों का चयन हुआ है। लैब कंप्यूटर समेत अन्य तकनीकी चीजों से लैस होंगी। जिससे आज के तकनीकी युग में सरकारी स्कूल के बच्चे भी कंप्यूटर सीख सकेंगे।

इसमें खात बात यह भी है कि सरकारी स्कूलों में विद्यार्थी आइसीटी लैब में क्लास के दौरान एजुकेशनल वीडियो के माध्यम से विषय की जानकारी ले पाएंगे। इसके साथ ही सेटेलाइट के जरिये विद्यार्थियों को विषय विशेषज्ञों से पढ़ने का मौका भी मिलेगा। चयनित स्कूलों में से कुछ स्कूलों में लैब का सामान विभाग के हेड क्वार्टर से आ चुका है और अन्य में जल्द ही आने की संभावना है। लैब बनाने तक सामान सुरक्षित रखने का जिम्मा स्कूल मुखिया का होगा।

इन चीजों से लैस होगी लैब

प्रत्येक लैब में 9 कंप्यूटर, 3 यूपीएस, एक प्रिंटर, एक एलईडी, 9 इंडिका यूनिकोड साफ्टवेयर होंगे। साथ ही पैकिंग के डिब्बे कंप्यूटर के लिए, यूपीएस, प्रिंटर, एलईडी, सीडी के लिए भी पैकिंग का सामान भेजा जाएगा। जिले में बिलासपुर में दो, छछरौली में चार, जगाधरी में नौ व मुसतफाबाद के एक स्कूल में लैब खुलेगी।

इन सरकारी स्कूलों में खुलेगी लैब

जगाधरी : जीएमएस बदी माजरा, जीएमएस चांदपुर, जीएमएस फारकपुर, जीएमएस लापरा, जीएमएस मंडी, जीएमएस नंबर नौ, जीएमएस नंबर पांच, जीएमएस परवालों, जीएमएस रटौली

छछरौली : जीएसएसएस अरीयावाला, जीएचएस दारपुर, जीएचएस खीलावाला, जीएमएस भंगेडा

बिलासपुर : जीएचएस अलीशेरपुर माजरा, जीएचएस मंगलौर

मुसतफाबाद : जीएमएस छपर

जिले के 16 स्कूलों में आइसीटी लैब बनने को लेकर स्कूलों में सामान हेड क्वार्टर की ओर से आना शुरू हो गया है। उम्मीद है जल्द ही स्कूलों में लैब बन कर तैयार होगी। जिससे बच्चों को तकनीकी शिक्षा का भी ज्ञान होगा।

कुलदीप, एसडीओ शिक्षा विभाग

Edited By: Anurag Shukla