जेएनएन, पानीपत। भाभी से अवैध संबंधों की के चलते पति ने अपनी पत्नी की हत्या कर दी। हालांकि संबंधों की जानकारी होने के बाद भी पत्नी चुप थी और वह अपने पति को बहुत चाहती थी। उसने अपने पैर पर दिल की आकृति में अपने नाम के साथ पति का नाम गुदवाया था।

पुलिस के मुकाबिक पत्नी अनोखा ने सुहागरात के दिन ही आरोपी पति सोनू को बुआ के लड़के की पत्नी (भाभी) के साथ संदिग्ध हालात में देख लिया था। उसका विश्वास टूट गया था लेकिन सास ने नसीहत दी कि मायके वालों को इस बारे में बताएगी तो रिश्ता टूट जाएगा। अनेखा ने हालात से समझौता किया। बहन पूनम के सिवाय किसी को पति की करतूत के बारे में नहीं बताया। हालात से यही समझौता अनेखा की मौत की वजह बना। 

यह भी पढ़ें: विकास व उसका दोस्‍त गिरफ्तार, सुभाष बराला बोले- दोषी है तो कार्रवाई हो

बिलखते परिजन यही आह भरकर कह रहे थे कि काश अनेखा उस समय हिम्मत दिखाती और सोनू के गलत कार्य के बारे में उन्हें बता देती। ज्यादा से ज्यादा रिश्ता टूट जाता लेकिन अनेखा की जान तो नहीं जाती। पूनम भी अपनी चुप्पी को कोस रही है।

दरअसल सोनू की एक बड़ी बहन, दो छोटे भाई हैं। वह जींद के बोहतवाला रेनू हैचरी में सुपरवाइजर था। इसी हैचरी में उसका पिता ईश्वर ट्रैक्टर चलाता था। पुलिस पूछताछ में सोनू ने बताया कि वह अनेखा से शादी करके खुश नहीं था। दहेज भी कम मिला था। वह उसे रास्ते से हटाना चाहता था। उसने हैचरी से सब्जी काटने वाला चाकू लिया। अनेखा को ससुराल से बाइक से लेकर समालखा पहुंचा।

यह भी पढ़ें: IAS की बेटी से छेड़छाड़: पुलिस का विकास व उसके दोस्‍त को पेश होने का नोटिस

वहां एक बड़ी पॉलिथिन में जूते-चप्पल व अन्य सामान भरा। फिर बहन अंजू के घर किशनपुरा जाने की बजाय नहर पर गया। वहां पेशाब करने का बहाना बनाकर बाइक से उतरा। इसी दौरान अनेखा झुककर पॉलिथिन संभालने लगी, तभी चाकू से उसकी गर्दन पर दो वार कर दिए। वह तड़पड़ी रही। भागने का प्रयास करने लगी तो उसके दायें पैर पर चाकू से हमला कर दिया। अनेखा वहीं ढेर हो गई। फिर उसे झाड़ियों में फेंक दिया।

हत्या के बाद उसने चाकू से अपने हाथ पर चाकू के निशान बनाए। चाकू को झाड़ी में छिपाकर बड़ी बहन मंजू को फोन कर कहा कि उसकी बाइक किसी वाहन से टकरा गई है। हादसे के बाद किसी ने उसके साथ लूटपाट कर ली है। अनेखा की हालत नाजुक है। पांच-सात लोगों को भेज दो। मंजू ने हथवाला फोन कर दिया।

यह भी पढ़ें: बराला ने चुप्‍पी तोड़ी, कहा-पीड़ित लड़की बेटी जैसी, जांच पर कोई दबाव नहीं

इसके बाद अनेखा के परिजन सारी रात नहर पर दोनों की तलाश करते रहे। वे नहीं मिले। अनेखा के परिजन व इसराना थाना पुलिस सोमवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे हड़ताड़ी में नहर के पास पहुंची। अनेखा के शव को पुलिस ने झाड़ी से उठवाकर एंबुलेंस में डाला, तभी झाड़ी में लेटा सोनू करहाने लगा। शक के दायरे में घिरे सोनू को पुलिस सामान्य अस्पताल ले आई।

डॉक्टर ने बताया कि सोनू पर किसी ने हमला नहीं किया है। ये चोट के निशान उसने खुद बनाए हैं। इससे पुलिस का शक गहराया और सोनू को दो थप्पड़ मारे। सोनू ने वारदात कुबूल कर ली और झाड़ी से चाकू भी बरामद करवा दिया।

यह भी पढ़ें: विकास के दोस्त आरोपों से हैरान, कहा- वह शराब पीता ही नहीं


 

 

Posted By: Ankit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस