पानीपत, जेएनएन - हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की ओर से शिक्षक पात्रता परीक्षा (एचटेट HTET) लेवल-टू टीजीटी की परीक्षा सुबह रविवार की सुबह 10 बजे शांतिपूर्ण से शुरू हुई। नकल रोकने के उद्देश्य के कारण प्रवेश से पहले परीक्षार्थियों की तलाशी ली गई। सर्दी के कारण देरी से पहुंचे परीक्षार्थियों को 9:40 बजे तक केंद्र में प्रवेश दिया गया। लेवल- वन की परीक्षा का समय  दोपहर तीन बजे है। पहले तो मौसम ने परीक्षा ली। बारिश की वजह से कई परीक्षार्थियों को देर भी हो गई। समय से कुछ मिनट पहले पहुंचे परीक्षार्थियों ने निवेदन किया तो अंदर जाने दिया गया। 

जीटी रोड पर परीक्षा केंद्र में जाते परीक्षार्थी। 

लेवल टू की परीक्षा 

जिला शिक्षा अधिकारी रमेश कुमार ने बताया कि शिक्षक पात्रता परीक्षा लेवल-टू की परीक्षा शुरु हो गई है। प्रवेश से पहले सभी परीक्षार्थियों के हाथों को सैनिटाइज कराया गया। परीक्षार्थी मास्क पहनकर परीक्षा केंद्र पर पहुंचे। परीक्षा केंद्रों में जैमर लगाए है और प्रत्येक परीक्षा कक्ष में भी सीसीटीवी की व्यवस्था की गई है, ताकि नकल की संभावना न रहे।

थर्मल स्‍क्रीनिंग करके ही अंदर जाने दिया गया। 

तलाशी ली जा रही 

परीक्षा केंद्र पर महिला परीक्षार्थियों की तलाशी के लिए महिला पुलिसकर्मी भी तैनात रही। सुबह के सत्र की परीक्षा दोपहर 12:30 बजे संपन्न हो जाएगी। एचटेट लेवल-वन की परीक्षा दोपहर तीन बजे से शुरू और 5:30 बजे संपन्न होगी।

बिना मास्‍क लगाए अंदर नहीं जाने दिया गया। 

वीडियोग्राफी भी हुई 

परीक्षार्थियों मैटल डिटेक्टर से तलाशी ली गई। इसके बाद हाजिरी लगी, कागजात जांचे गए। वीडियोग्राफी भी कराई गई है। थर्मल सेंसर से सभी का तापमान भी जांचा गया है।

नियमों में थोड़ी छूट जरूर मिली। 

सिंदूर-बिंदी की अनुमति 

परीक्षा के दौरान किसी प्रकार की ज्वैलरी पहनने की अनुमति नहीं थी। किसी प्रकार की एसेसीरीज भी नहीं ले जा सकते। महिलाओं को बिंदी और सिंदूर लगाए रखने की अनुमति रही। सिख परीक्षार्थियों को भी धार्मिक आस्था के चिन्ह ले जाने की अनुमति मिली। 

परीक्षा केंद्र में जाते परीक्षार्थी। 

प्रवेश के तीन चरण 

परीक्षार्थियों के केंद्र में प्रवेश से पहले प्रथम चरण में उसकी मैटल डिटेक्टर से तलाशी ली गई है और उसके बाद बायोमैट्रिक प्रणाली के माध्यम से परीक्षार्थियों की बाई आंख की स्क्रीनिंग करने के बाद तीसरे चरण में उनके कागजात जांचे गए हैं। सभी अभ्यर्थियों की वीडियोग्राफी करवाई गई। इसके अलावा सैनिटाइजेशन व थर्मल स्केनर उपलब्ध कराएं गए।

 

सर्द मौसम ने किया बेहाल। 

अंबाला में साढ़े छह हजार अभ्‍यर्थी 

अंबाला में साढ़े छह हजार अभ्यर्थी परीक्षा में बैठेंगे। इसके चलते जिला प्रशासन ने अपनी पूरी तैयारी कर ली है। हालांकि पहले दिन शनिवार को सकुशल परीक्षा संपन्न हुई। हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा 2020 के लिए दो दिन निर्धारित किए हुए थे। जिसमें पहले दिन की परीक्षा हो चुकी है। अब दूसरे दिन परीक्षा के लिए दो चरण रखे हुए हैं। 

Edited By: Ravi Dhawan

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट