यमुनानगर, जागरण संवाददाता। एयरटेल डीटीएच रिचार्ज कराने के लिए गूगल से हेल्पलाइन नंबर लेना सरोजनी कालोनी निवासी रितु शर्मा को महंगा पड़ गया। आरोपित ने उन्हें बातों में उलझाकर क्रेडिट कार्ड की डिटेल ली और खाते से 56 हजार 200 रुपये साफ कर दिए। जब आरोपित को दोबारा काल कर इस बारे में कहा, तो वह अभद्रता करने लगा। मामले में गांधीनगर थाना पुलिस ने केस दर्ज किया है।

पुलिस को दी शिकायत के मुताबिक, रितु शर्मा को अपने एयरटेल डीटीएच का रिचार्ज कराना था। इसके लिए उन्होंने गूगल के माध्यम से रिचार्ज किया,लेकिन उनका रिचार्ज गलत हो गया और 200 रुपये किसी और डीटीएच के रिचार्ज में चले गए। जिस पर उन्होंने गूगल पर कस्टमर केयर नंबर के लिए सर्च किया। एक नंबर मिला। जब इस नंबर पर काल कर रिचार्ज गलत होने के बारे में बताया, तो काल सुनने वाले ने उनसे एनी डेस्क एप डाउनलोड कराया। इसके बाद आरोपित ने उनसे क्रेडिट कार्ड की फोटो मंगवाई।

56 हजार 200 रुपये खाते से निकाले

आरोपित की बातों में आकर उन्होंने क्रेडिट कार्ड की फोटो वाट्सएप कर दी। इतने में उनके खाते से पैसे निकलने लगे। जब इस बारे में आरोपित से बात की, तो वह पैन कार्ड की फोटो मांगने लगा। शक होने पर उसे मना कर दिया। आरोप है कि इस पर आरोपित ने उनके साथ अभद्रता की। इस तरह से उनके खाते से 56 हजार 200 रुपये साफ हो गए। मामले को लेकर गांधीनगर थाना पुलिस को शिकायत दी गई।

इधर एटीएम कार्ड बदलकर खाते से उड़ाए 90 हजार रुपये

यमुनानगर के दामला निवासी रणबीर सिंह का दो युवकों ने एटीएम कार्ड बदल लिया। उसके खाते से 90 हजार रुपये साफ कर दिए। इसका पता भी उस समय लगा, जब मोबाइल पर पैसे कटने के मैसेज आने लगे। मामले की गांधीनगर थाना पुलिस को शिकायत देकर केस दर्ज कराया गया। रणबीर सिंह ने बताया कि वह 27 जनवरी को कैंप में स्टेट बैंक आफ इंडिया के एटीएम से पैसे निकालने के लिए गया था। यहां से 18 हजार रुपये निकलवाने लगे, लेकिन मशीन नहीं चली।

इसी दौरान वहां पर दो युवक भी खड़े थे। वह बात करने लगे। बातों में बहलाकर आरोपितों ने उनका एटीएम कार्ड बदल गया। इसके बाद वह घर आ गए। शाम को उनके मोबाइल पर पैसे निकलने का मैसेज आने लगे। रात डेढ़ बजे भी उनके पास मैसेज आया। जिस पर उन्होंने तुरंत एटीएम कार्ड ब्लाक कराया। इस दौरान आरोपितों ने उनके खाते से 90 हजार रुपये निकाल लिए थे।

Edited By: Rajesh Kumar