पानीपत, जागरण संवाददाता। भाभी के प्रेमी ने दो दोस्तों के साथ मिलकर काबड़ी रोड स्थित भारत नगर के अशोक कुमार की हत्या कर दी। पहले गले में बेल्ट डालकर घसीटा। एक घंटे तक पीट-पीटकर मार डाला। बाइक से तेल निकाया, फिर मुंह पर डालकर आग लगा दी। इसके बाद शव नहर में फेंक दिया। भाभी व मृतक की पत्नी के कहने पर आरोपित ने हत्याकांड का वीडियो भी बनाया। भाभी ने प्रेमी को झांसा दिया था कि वह उससे शादी कर लेगी। पहले देवर की हत्या करनी होगी। दरअसल, देवर प्लाट नहीं बेचने दे रहा था। देवर की हत्या के बाद, पति की हत्या कराना चाहती थी। प्रेमी ने इन्कार किया तो उसी के खिलाफ शिकायत दे दी। इसके बाद हत्याकांड का राज खुल गया।

पुलिस के अनुसार करनाल के देहा बजीदा का 32 वर्षीय अशोक कुमार दो भाइयों, पत्नी सोनू व तीन बच्चों सहित भारत नगर में रहता था। एक गोदाम में वेस्ट कपड़े की छंटाई का काम करता था। उसके बड़े भाई राजू की जींद के करसिंधू गांव के दीपक से दोस्ती थी। दीपक के राजू की पत्नी ऊषा के साथ संबंध बन गए। अशोक की पत्नी सोनू व ऊषा सगी बहनें हैं। अशोक पर दोनों बहनें प्लाट बेचने का दबाव डाल रही थी। अशोक ने मना कर दिया। पत्नी से अलग अर्जुन नगर में किराये के मकान में रहने लगा। इसके बाद दोनों बहनों ने अशोक की हत्या की साजिश रची। ऊषा ने प्रेमी दीपक को झांसा दिया कि वह अशोक की हत्या करने पर उससे शादी कर लेगी।

19 सितंबर को किया कत्‍ल

19 सितंबर की रात को सोनू ने अशोक को काल कर कहा कि दीपक प्लाट का ग्राहक लेकर आया है। काबड़ी रोड पर मिलना। दीपक अपने एक दोस्त के साथ बाइक से आया और अशोक को बैठाकर गढ़ी सिकंदरपुर के पास नहर किनारे पर ले गया। वहां पर आरोपितों का एक दोस्त पहले से ही मौजूद था। अशोक को शराब पिलाई। इसके बाद बेल्ट से अशोक का गला घोंटा। पीट-पीटकर मार डाला। मुंह पर तेल डालकर जलाया और शव को दिल्ली पैरलल नहर में फेंक दिया। ऊषा, प्रेमी दीपक पर दबाव डाल रही थी कि अब पति राजू की हत्या कर दे। तभी उससे शादी करेगा। दीपक ने मना किया तो ऊषा और सोनू नाराज हो गईं।

14 जनवरी को दी शिकायत

सोनू ने 14 जनवरी को पुलिस को शिकायत दी कि 19 दिसंबर को दीपक, उसके पति अशोक का अपहरण करके ले गया और नहर पर हत्या कर दी। 13 जनवरी को आरोपित ने हत्याकांड का वीडियो दिखाया था। धमकी दी थी कि पुलिस को शिकायत दी तो परिवार सहित मार डालेगा। पुराना औद्योगिक थाना पुलिस ने दीपक के खिलाफ हत्या सहित कई धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया था। थाने के कार्यकारी प्रभारी राजपाल सिंह ने बताया कि आरोपित दीपक को गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ के बाद अशोक की हत्या की साजिश में शामिल ऊषा व पत्नी सोनू को घर से गिरफ्तार कर लिया है।

शव देखने से पहले ही तस्वीर पर माला चढ़ा दी थी

पुलिस ने 21 सितंबर को अशोक के शव को जाटल रोड के नजदीक हनुमान मंदिर के पास दिल्ली पैरलल नहर से बरामद किया था। लावारिस मानकर अंतिम संस्कार कर दिया। पड़ोसियों ने बताया कि सोनू व स्वजनों को शव की जानकारी थी, लेकिन शव लेने नहीं गए। सोनू ने तभी से ही अशोक की तस्वीर पर माला चढ़ा दी थी।

Edited By: Anurag Shukla