जींद, जागरण संवाददाता। एचडीएफसी बैंक की जींद शाखा में कार्यरत खुंगा गांव निवासी 32 वर्षीय हरदीप की सड़क हादसे में मौत हो गई। वह अपने चाचा के साथ वीरवार शाम को जींद से गांव जा रहा था। उसकी बाइक को कार ने टक्कर मार दी और कार चालक मौके पर कार को छोड़ कर फरार हो गया। पुलिस ने मृतक के चाचा सुखजिंद्र की शिकायत पर अज्ञात कार चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू की है।

पुलिस को दी शिकायत में गांव खुंगा निवासी 44 वर्षीय सुखजिंद्र ने कहा कि वह वीरवार को घरेलू कार्य के लिए जींद आया था। वह शाम को उसके भतीजे हरदीप सिंह के पास बैंक में गया। दोपहर बाद साढ़े चार बजे वह दोनों अपनी-अपनी मोटर साइकिल पर सवार होकर गांव के लिए निकले थे। हरदीप जब बराह व लोहचब गांव के पास डीपीएस स्कूल के पास पहुंचा, तो सामने से एक अज्ञात कर चालक ने हरदीप की मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी। कार चालक तेज रफ्तार व लापरवाही से गाड़ी चला रहा था।

गाड़ी की टक्कर लगने से उसका भतीजा हरदीप मोटरसाइकिल समेत सड़क पर गिर गया। वहीं कार चालक अपनी गाड़ी को मौके पर छोडकर भाग गया। इसके बाद सुखजिंद्र ने फोन करके एंबुलेंस को मौके पर बुलाया व भतीजे हरदीप को इलाज के लिए नागरिक अस्पताल जींद में लेकर आया, जहां चिकित्सकों ने हरदीप को मृत घोषित कर दिया। जांच अधिकारी एसआइ रविंद्र कुमार ने बताया कि पुलिस ने मृतक हरदीप के चाचा की शिकायत पर अज्ञात कार चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

करंट लगने से किसान नेता के भतीजे की मौत

जींद : खेत में सिंचाई के लिए गए किसान नेता रामफल कंडेला के भतीजे की करंट लगने से मौत हो गई। पुलिस ने रामफल कंडेला के बयान पर इत्तफाकिया कार्रवाई करते हुए शव का पोस्टमार्टम कर स्वजनों को सौंपा दिया। पुलिस को दिए बयान में किसान नेता रामफल कंडेला ने बताया कि उसका भतीजा 40 वर्षीय अजमेर वीरवार रात को खेतों में पानी लगाने के लिए लगाया था। जब वह ट्यूबवेल चलाने लगा, तो उसे करंट लग गया। करंट लगने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना का पता सुबह लगा, जब अजमेर घर वापस नहीं आया। स्वजनों ने खेताें में जाकर देखा, तो अजमेर बेसुध पड़ा था। उसे इलाज के नागिरक अस्पताल लेकर आए, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

Edited By: Anurag Shukla