जागरण संवाददाता, करनाल। लोग चिंता न करें। इस समय मानसून (Haryana Monsoon update) की हवाएं बरसात होने के अनुकूल बनी हुई हैं। हरियाणा में किसी भी समय मूसलाधार बरसात हो सकती है। बीती रात हिसार सहित कई जगहों पर बा‍रिश हुई, लेकिन महज बूंदाबांदी हुई और इससे उमस और बढ़ गई है। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, आज हरियाणा के अधिकतर स्‍थानों पर झमाझम बारिश की संभावना है।

रविवार को दोपहर के समय रोहतक में बूंदाबांदी तो फतेहाबाद के टोहाना में हल्की बारिश हुई। कई जिलों में रात तक मौसम बदल सकता है। लेकिन रविवार को जो बरसात की संभावना है, उससे जींद और हिसार अछूते रह सकते हैं। यह बात अलग है कि सोमवार को इन जगहों पर मानसून मेहरबान हो सकता है।

इस समय एक टर्फ रेखा पंजाब से उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी तक दक्षिण हरियाणा दक्षिण उत्तर प्रदेश झारखंड और उत्तरी ओडिशा तक फैली हुई है। उत्तर आंध्र और दक्षिण ओडिशा तट पर पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। जो बरसात होने की प्रबल संभावना को बता रहा है। हालांकि रविवार के मौसम पर गौर किया जाए तो सुबह से ही बादल छाए हुए हैं। मानसून में बादलों की गति बढ़ी है। मौसम विभाग ने उम्मीद जताई है कि रविवार को हरियाणा के ज्यादातर क्षेत्र में बरसात हो सकती है। 

हर साल जुलाई में झमाझम बरसात, इस साल लोग कर रहे इंतजार

पिछले 10 सालों में बरसात की स्थिति पर गौर किया जाए तो हर साल जुलाई के महीने में झमाझम बरसात हुई है। एक माह में बरसात का आंकड़ा 554 एमएम तक पहुंच चुका है। हालांकि इस साल जुलाई माह में एक बार ही बरसात हुई है। जो 35.2 एमएम दर्ज की गई है। अभी तेज बरसात का इंतजार है।

पिछले 10 साल में जुलाई माह में होने वाली बरसात की स्थिति

वर्ष            बरसात एमएम में

2011        180.1 

2012        34.9

2013        215.4

2014        66.0

2015        231.8

2016        202.8

2017        71.4

2018        554.2

2019        244.8

2020        437.6

2021        35.2

(नोट : ये आंकड़े मौसम विभाग की ओर से जारी किए गए हैं।)

  

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Edited By: Umesh Kdhyani