जागरण संवाददाता, समालखा। पंचायत चुनाव का ऐलान होते ही भावी उम्मीदवार सक्रिय हो गए हैं। उन्होंने अपने क्षेत्र में सक्रियता को बढ़ाने के साथ गठजोड़ को लेकर बैठक शुरू कर दी है। वोटरों को कैसे साधा जाए, इसको लेकर रणनीति तैयार होने लगी है। खंड के कुछ गांव तो ऐसे हैं, जहां सरपंच पद को लेकर कड़ी टक्कर होती है। इनमें चुलकाना, नारायणा, आट्टा, हथवाला, बिहोली व मछरौली शामिल हैं।खंड में 91 हजार 138 वोटर हैं।

समालखा खंड में क्या है स्थिति

खंड में 32 ग्राम पंचायत है। इनमें 6 एससी, 3 बीसी वर्ग व 23 सामान्य वर्ग के महिला व पुरुषों के लिए आरक्षित हैं। जिला परिषद के लिए 8, 9 व 10 वार्ड है। वार्ड 9 सामान्य वर्ग की महिला के लिए आरक्षित है। ब्लाक समिति के 27 वार्ड हैं। तीन बीसीए, पांच एससी वर्ग व अन्य में सामान्य वर्ग के महिला व पुरुष चुनाव लड़ेंगे। वहीं ग्राम पंचायत के 499 वार्ड है। इनमें से 77 एससी व 48 बीसीए वर्ग के लिए आरक्षित किए गए हैं।

महिलाओं की बराबर होगी भागीदारी

पहले चुनावों में महिला वर्ग को 33 प्रतिशत आरक्षण था। अबकी बार महिला वर्ग को 50 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है।यानी, अब महिलाओं की भागीदारी पुरुषों के बराबर होगी। इससे महिला वर्ग में खुशी का माहौल है। सुनीता, बबीता, सोनिया का कहना है कि सरकार ने ये अच्छा फैसला लिया है। आज के दौर में महिला हर क्षेत्र में पुरुषों के बराबर खड़ी है। सरकार की इस पहले से अब वो ग्रामीण विकास में भी बराबर की भागीदारी निभा सकेगी।

बीसीए वर्ग के लोग भी खुश

चुनाव में पहली बार बीसीए वर्ग के लिए भी आरक्षित किया गया है। राकेश सोनी, सुशील जांगडा, रमेश कुमार, राधेश्याम, प्रेम कुमार का कहना है कि सरकार ने बीसीए वर्ग के लिए चुनाव में पहली बार आरक्षण दिया है। ये उनके लिए अच्छा फैसला है। इससे अब वो भी ग्रामीण आंचल की राजनीतिक पारी खेल विकास में अपना योगदान दे सकेंगे।

Edited By: Anurag Shukla

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट