कुरुक्षेत्र, [अनुज शर्मा]। शिक्षा विभाग बुनियाद कार्यक्रम के तहत प्रदेशभर के सरकारी स्कूलों में नौवीं कक्षा में पढ़ रहे विद्यार्थियों को राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा (एनटीएसई) की फ्री आनलाइन काेचिंग देकर नींव तैयार करेगा। इसको लेकर विद्यालय शिक्षा निदेशालय ने प्रदेशभर के जिला शिक्षा अधिकारियों को पत्र भेजकर सभी सरकारी स्कूलों के प्रिंसिपलों को बुनियाद कार्यक्रम की जानकारी देकर नौवीं कक्षा के विद्यार्थियों को एनटीएसई की फ्री कोचिंग के लिए आयोजित होने वाली परीक्षा के लिए तैयार करने के आदेश जारी किए है।

कार्यक्रम के नोडल अधिकारी एवं जिला गणित विशेषज्ञ शिवचरण गुप्ता ने बताया कि शिक्षा विभाग सुपर-100 की तर्ज पर बुनियाद कार्यक्रम लेकर आया है। सुपर-100 में 11वीं और 12वीं के विद्यार्थियों को संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) व राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) की आफलाइन फ्री कोचिंग प्रदेशभर के चार सेंटरों पर दी जा रही है। लेकिन बुनियाद कार्यक्रम के तहत अपने जिले में ही नौवीं कक्षा में पढ़ रहे विद्यार्थियों को पूरी तरह से आनलाइन फ्री कोचिंग दी जाएगी।

जिले के 116 सरकारी स्कूलों के विद्यार्थी देंगे परीक्षा

जिला विज्ञान विशेषज्ञ सुरेंद्र कुमार ने बताया कि बुनियाद कार्यक्रम आयोजित होने वाली परीक्षा पहले खंड स्तर और बाद में जिला स्तर पर आयोजित की जाएगी। इसमें कुरुक्षेत्र जिले के 116 सरकारी स्कूलों के विद्यार्थी भाग लेंगे। खंड स्तर की परीक्षा अक्टूबर माह के अंतिम सप्ताह में ली जाएगी। जिनमें से खंड स्तर पर लगभग 400 विद्यार्थियों का चयन किया जाएगा। जो नवंबर माह में जिला स्तर पर आयोजित परीक्षा में भाग लेंगे। वहीं जिला स्तर पर 100 से 120 प्रतिभाशाली विद्यार्थियों का चयन किया जाएगा। जिनको एनटीएसई की फ्री कोचिंग दी जाएगी।

परीक्षा में छठी से आठवीं तक आएगा पाठ्यक्रम

डीएमएस शिवचरण गुप्ता ने बताया कि बुनियाद कार्यक्रम के तहत आयोजित परीक्षा में छठी से आठवीं कक्षा तक का पाठ्यक्रम समायोजित होगा। इसके अलावा मेंटल एप्टिट्यूट यानी मानिसक योग्यता चेक करने वाले प्रश्न आएंगे। जिन्हें पास करने वाले विद्यार्थी एनटीएसई की फ्री कोचिंग ले सकेंगे।

हर जिले में बनया जाएगा एक सेंटर

चयनित विद्यार्थियों को 40-40 के तीन बैच बनाकर सप्ताह में दो दिन फ्री कोचिंग दी जाएगी। इसमें एनटीएसई के साथ-साथ अन्य छात्रवृति परीक्षाओं की भी फ्री कोचिंग दी जाएगी। इसके लिए प्रदेश के हर जिले में एक स्कूल में सेंटर बनाया जाएगा। जिसमें लाइव प्रोजेक्टर के माध्यम से विद्यार्थियों को फ्री कोचिंग दी जा सकें। इन कक्षाओं में विद्यार्थियों को पिछले पढ़ाए गए विषय से संबंधित शंकाओं को भी दूर कराया जाएगा।

सुपर-100 की तर्ज पर शिक्षा विभाग अब नौवीं कक्षा में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को एनटीएसई की तैयारी करवाएगा। यह शिक्षा निदेशालय का सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों को ऊपर उठाने का बेहतर प्रयास है।

अरुण आश्री, जिला शिक्षा अधिकारी, कुरुक्षेत्र।

Edited By: Anurag Shukla