पानीपत, जेएनएन। सिवाह गांव स्थित जिला जेल में मोबाइल फोन मिला है। फोन को चक्की के बाहर दबा रखा था। मोबाइल पर इएमइआइ नंबर नहीं लिखा था। कई बंदी पुलिस की जांच के दायरे में हैं। जेल की डीएसपी गीता ने पुलिस को शिकायत देकर बताया कि वीरवार को दोपहर एक बजे डीएसपी दीपक हुड्डा के नेतृत्व में सुरक्षा वार्ड के पार्ट-टू की तलाश कराई गई।

तलाशी के दौरान हेड वार्डर ने चक्कियों के सामने जमीन में मोबाइल फोन बैट्री सहित मिट्टी में दबा मिला। सिम पर तीन मोबाइल फोन नंबर मिले थे। सिम नंबर से का डिटेल निकलवा कर पता लगाया जा रहा है कि किस-किस से बात की गई है। किस बंदी ने मोबाइल फोन का इस्तेमाल किया है। इसका भी पता लगाया जा रहा है। थाना सेक्टर-29 पुलिस ने केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

सबसे सुरक्षित जेल होने का है दावा, फिर भी मिल रहे हैं मोबाइल फोन

जेल प्रशासन दावा करता है कि पानीपत जेल प्रदेश की सबसे सुरक्षित जेलों में शुमार है। बदमाश इन दावों की हवा निकाल रहे हैं। यहां पर पहले भी दस बदमाशों के पास से मोबाइल फोन बरामद हो चुके हैं। इनमें कुख्यात बदमाश सिवाह का राकेश उर्फ पंपू भी शामिल है। जेल में बार-बार मोबाइल फोन मिलने से सुरक्षा पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।

कुख्यात अपराधी के भाई सहित तीन हो चुके हैं गिरफ्तार

क्राइम इनवेस्टिगेशन एजेंसी (सीआइए-थ्री) पुलिस पानीपत जेल में बंद कुख्यात अपराधी सोनीपत के मदीना गांव के नीटू उर्फ सीटा तक सिम कार्ड पहुंचाने के तीन आरोपितों को काबू कर चुकी है। नीटा को उसी के भाई विकास उर्फ मोनू ने जेल में सिम कार्ड पहुंचाया था। पुलिस ने विकास को सिम कार्ड मुहैया कराने के आरोपित मदीना गांव के रोहित व राहुल को भी गिरफ्तार किया था।

अंबाला में सीएम फ्लाइंग का छापा, पकड़े अवैध रखे पटाखे

अंबाला शहर के सेक्टर नाै थाना क्षेत्र में जलबेहड़ा राेड स्थित वासुदेव नगर में अवैध रूप से रखे भारी मात्रा में पटाखे बरामद हुए हैं। मामले की सूचना मिलने पर गुप्तचर विभाग और मुख्यमंत्री उड़नदस्ते की टीम ने छापामारी की। जहां जांच में अवैध रूप से पटाखे पाए जाने पर सेक्टर नौ थाना पुलिस और फायर ब्रिगेड को मौका पर बुलाया गया। जहां जांच में पाया गया कि रिहायशी इलाका में बिना लाइसेंस के पटाखों एकत्रित किया जा रहा था।

Edited By: Anurag Shukla