पानीपत/कुरुक्षेत्र, जेएनएन। लाडवा के गोयल दंपती को स्‍वीेडन से मौत यहां खींच लाई। पिछले दिनों मां की मौत के बाद गौरव गोयल अपनी पत्‍नी के साथ स्‍वीडन बेटी के पास थे। वह मां के निधन से बेहद दुखी थे। पति-पत्‍नी सोमवार को ही वहां से लौटे थे और नई दिल्‍ली के इंदिरा गांंधी हवाई अड्डे से लाडवा कार से लौट रहे थे और हादसे में दर्दनाक मौत के शिकार हो गए।

दिल्ली चंडीगढ़ नेशनल हाईवे पर साेमवार को हुए इस दर्दनाक हादसे ने सनसनी फैला दी। दंपती गोयल की इस तरह हुई मौत से लाडवा क्षेत्र के लोग स्तब्ध हैं। लाडवा के अडाना परिवार के गौरव गोयल क्षेत्र के मशहूर समाजसेवी थे। उनकी मां का कुछ दिन पहले ही निधन हुआ था। इससे वह बेहद दुखी थे और इसके पत्नी डॉ.रंजना गोयल के साथ बेटी के पास स्वीडन चले गए थे। वहां से वह सोमवार को ही लौटे थे। वह कार से नई दिल्‍ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डा से लौट रहे थे। इसी दौरान पानीपत में दर्दनाक हादसे शिकार हो गए।

यह भी पढ़ें: Delhi-Chandigarh Highway पर चलती कार पर गिरी मौत, कट गई गर्दन

गौरव गोयल लाडवा में लाडवा फिलिंग स्टेशन के मालिक थे। सोमवार सुबह ही गौरव गोयल और पत्नी ज्ञान भारती बीएड  कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ. रंजना गोयल स्वीडन से दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डा पहुंचे थे। इनोवा से लाडवा आ रहे थे।

16 मई को मां का निधन हुआ था

उनके पेट्रोल पंप के कर्मी प्रेम चंद ने बताया कि गौरव गोयल अपनी पत्नी के साथ 22 मई को लाडवा से स्वीडन में बेटी के पास गए थे। 16 मई को गौरव गोयल की मां कृष्णा गोयल का निधन हो गया था। इसके बाद से दोनों बहुत उदास थे। बेटी ने उन्हें अपने पास बुलाया था। वे कार से दिल्‍ली पहुंचे और स्‍वीडन जाने से पहले दिल्ली में किसी रिश्तेदार के यहां कार खड़ी कर थी। वहां से लौटने के बाद वे अपनी इसी कार में लाडवा आ रहे थे।

स्वीडन में बेटी के पास रहने के बाद गोयल दंपति इटली चले  गए थे। इसके बाद सोमवार सुबह दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचे थे। दोपहर लगभग दो बजे दिल्ली चंडीगढ़ नेशनल हाईवे पर पानीपत पुल पर हादसा हो गया। कार के आगे चल रहे ट्रैक्टर ट्राली से गार्डर गिरने पर दोनों की मौत हो गई थी।

कई शिक्षण संस्थाओं की प्रबंध समिति के सदस्य रहे

 गौरव गोयल लाडवा में पेट्रोल पंप के मालिक के साथ  प्रगतिशील किसान भी थे। वह शहर की कई शिक्षण संस्थाओं  की प्रबंधन समिति के भी सदस्य रहे। उनकी पत्नी डॉ. रंजना गोयल इंद्री के ज्ञान भारती कालेज में दो साल से प्राचार्या के पद पर कार्यरत थीं।

बेटा एमबीए कर मुंबई में कर रहा है ट्रेनिंग

गौरव गोयल के पास तीन बच्चे हैं।  दो बेटियां और एक पुत्र। एक बेटी बिहार में विवाहित है और अब स्वीडन में

रहती है। उनकी एक बेटी दिल्ली में रहकर पढ़ रही है। बेटे उदय गोयल ने कनाडा से एमबीए की डिग्री ली है। उदय गोयल चार महीने से मुंबई में एक फर्म में ट्रेनिंग कर रहा है।

चालक को फोन कर दिल्ली आने के लिए कर दिया था मना

गौरव गोयल की भांजी लाडवा आई हुई थी। उसका सोमवार  को करनाल में पेपर था, जिस वजह से गौरव गोयल ने सुबह  लाडवा फोन करके अपने चालक को दिल्ली आने से मना कर  दिया था। गौरव दिल्ली से खुद गाड़ी चलाकर लाडवा आ रहे थे।

यह भी पढ़ें: वैष्‍णो देवी से श्रद्धालुओं संग लौट रही बच्‍ची हो गई 'गायब', फिर ऐसा हुआ कि लगे माता के जयकारे

समाजसेवा में बढ़चढ़ लेते थे भाग

गौरव गोयल और डॉ. रंजना गोयल समाजसेवी के कार्यों में  बढ़चढ़ कर भाग लेते थे। क्षेत्र में उनका काफी सम्मान है।  उनकी माता कृष्णा देवी भी बेहद धार्मिक थीं और कई सामाजिक संस्थाओं से जुड़ी हुई थीं। लोगों का कहना है कि समाज ने एक समाजसेवी परिवार को खो दिया है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप