जागरण संवाददाता, पानीपत : सरकारी अधिकारी रिकॉर्ड ऑनलाइन अपग्रेडेशन से लेकर विकास कार्य कराने तक में ढीले चल रहे हैं। हालात यह है कि वित्त वर्ष के आखिरी दिनों में भी विकास नहीं करा पाए। पानीपत ग्रामीण हलके के नगर निगम एरिया में मुख्यमंत्री की घोषणा से आए पांच करोड़ रुपये की कार्य योजना तक नहीं बनाई जा सकी। मासिक बैठक में 32 विभागों में से अधिकतर विभागों की रिपोर्ट संतोषजनक नहीं मिली। डीसी डॉ. चंद्रशेखर खरे ने सामान्य से छोटी रही मासिक समीक्षा बैठक में अधिकारियों की बड़ी ¨खचाई की। जिले की मासिक समीक्षा बैठक बुधवार को लघु सचिवालय के द्वितीय तल स्थित हाल में आयोजित की गई। अध्यक्षता डीसी डॉ. चंद्रशेखर खरे ने की। बैठक सुबह 10 बजे शुरू होनी थी, लेकिन डीसी एक कार्यक्रम में व्यस्त रहे। इसके चलते बैठक करीब 11 बजे शुरू हुई। यह बैठक दोपहर बाद 12:30 बजे तक चली, जिसमें विभिन्न 32 विभागों की कार्य रिपोर्ट की समीक्षा की। व्यायामशाला का काम पूरा न होने पर एसडीओ की ¨खचाई : डीसी ने जिले को मिली 26 व्यायामशालाओं की रिपोर्ट ली। डीडीपीओ रूपेंद्र मलिक ने बताया कि जिले में 26 में से छह व्यायामशालाओं का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। बाकी का काम बहुत की ढीला चल रहा है। एडीसी राजीव मेहता ने कहा कि वे खुद मौका मुआयना कर चुके हैं, लेकिन पंचायती राज विभाग एसडीओ की रिपोर्ट की पुअर है। कई जगह व्यायामशाला के नाम चार दीवारी व रास्ता ही बनाया गया है। ठेकेदार रॉ मैटीरियल महंगा होने पर अब उस रेट में काम करने को तैयार नहीं है। ओडीएफ पर अधिकारी गंभीर नहीं : डीसी ने ओडीएफ की रिपोर्ट ली। एडीसी ने सामने आकर कहा कि बीडीपीओ का इसको गंभीरता के साथ नहीं ले रहे हैं। कुछ ग्राम पंचायत अच्छी इनकम वाली हैं। इनका ओडीएफ के सफल आयोजन में सहयोग लिया जा सकता है। डीडीपीओ रूपेंद्र मलिक ने अपनी बात रखनी चाही, लेकिन डीसी ने मामला सीधे बीडीपीओ से संबंधित होने की कहकर साफ शब्दों में चेतावनी दी। निगम जेबीएम कंपनी की मॉनिट¨रग करें : डीसी डॉ. खरे ने कहा कि नगर निगम व नगर पालिका समालखा का स्वच्छता सर्वेक्षण का काम पूरा हो गया है। जेबीएम कंपनी द्वारा डोर-टू-डोर कूड़ा उठान शुरू कर दिया है। उन्होंने निगम कमिश्नर शिवप्रसाद शर्मा को कंपनी के काम की मॉनिट¨रग करने कर रिपोर्ट देने की कही। फसल बीमा योजना व स्ट्रे कैटल की रिपोर्ट पर ¨चता : प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना व स्ट्रे कैटल की रिपोर्ट पर डीसी ने कुछ ¨चता व्यक्त की। कृषि विभाग के अधिकारी को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को शत प्रतिशत पूरा करने के निर्देश दिए। पशुपालन विभाग के उप निदेशक डॉ. वाईडी त्यागी ने बताया कि जिले की सभी गोशालाएं ओवर हो चुकी हैं। गोवंश को लेकर तीन और गोशालाएं बनाई जा रही हैं। ग्राम सचिवालयों में इंटरनेट नहीं, पोर्टल पर भी नहीं अपडेट : डीआईओ ने ग्राम सचिवालयों में इंटरनेट कनेक्शन होने के बाद भी इसका प्रयोग न करने की बात रखी। डीसी डॉ. खरे ने इस पर ¨चता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि गांवों में आप्टीकल फाइबर केबल तक बिछाई जा चुकी हैं। अब इसका प्रयोग न करना ¨चता का विषय है। डीसी ने सरकारी जमीन के डाटा का अपडेट न करने पर भी ¨चता व्यक्त की और शिक्षा विभाग समेत कई विभागों को साफ चेतावनी दी। सीएम की घोषणा के भी काम नहीं करा सके : मुख्यमंत्री ने नगर निगम के अंतर्गत आने वाले पानीपत ग्रामीण हलके के एरिया में विकास कार्यों को लेकर पांच करोड़ रुपये की राशि जारी की गई थी। नगर निगम व दूसरे विभाग इनका प्रस्ताव तक नहीं बना सकें। डीसी ने नगर निगम व संबंधित विभाग अधिकारियों को योजना बनाकर काम करने की हिदायत दी। डीसी ने कहा कि अधिकारी सुबह कार्यालय में आते ही और शाम को जाने से पहले अपने वाट्सएप और मेल को चेक करें। ¨रग रोड के मैनहोल के ढक्कर ठीक करने के आदेश : समीक्षा बैठक में हुडा सेक्टर-25 ¨रग रोड की स्थिति की रिपोर्ट रखी गई। डीसी ने कहा कि पानीपत-हरिद्वार रोड बबैल नाके से लेकर सेक्टर-25 व 29 से जीटी रोड में मिलने वाले रोड पर मैनहोल सड़क से काफी ऊंचे हैं। सड़क की भी कई जगह हालात खस्ता है। ऐसे में हादसे होने का डर बना रहता है। अधिकारी इसका प्रमुखता के साथ समाधान करें।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस