अंबाला, जेएनएन। कोरोना से जंग में अब सेना ने भी मेडिकल कोर से सेवानिवृत्त हुए डाक्टरों व स्वास्थ्य कर्मियों को काल कर लिया है। इसके लिए लेटर जारी किया गया है। सेना की पश्चिमी कमान ने इस बारे में लेटर जारी किया है। खास है कि इन सेवानिवृत्त डाक्टरों व स्वास्थ्य कर्मियों को उनके गृह क्षेत्र में ही तैनाती दी जाएगी। इसी को लेकर अब सेना अपनी पूरी तैयारी के साथ कोरोना मरीजों को सलाह देने और उपचार के लिए व्यवस्थाएं कर रही है।

कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर सेना ने भी अपनी कमर कस ली है। इसके लिए सेना ने अपने अस्पतालों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिए हैं। सेना की मेडिकल कोर से रिटायर्ड हुए डाक्टर व स्वास्थ्य कर्मी (जो दो साल की अविध में रिटायर्ड हुए हैं) को कॉल किया है। इन डाक्टरों को सेना अपने अस्पतालों व हेल्पलाइन में तैनात करेगी। सेना अपने अस्पतालों को इसी लिहाज से तैयार कर रही है ताकि आवश्यकता पड़ने पर कोविड मरीजों का उपचार किया जा सके। इन सभी की तैनाती उनके घर के आसपास कोविड सेंटरों में होगी। वे जवान जो मेडिकल कोर से नहीं है, वे भी बतौर स्वयंसेवक सेना को ज्वाइन कर सकते हैं।

इस बारे में रिटायर्ड कर्नल आरडी ¨सह ने कहा कि इस संबंध में लेटर जारी किया गया है। यह सराहनीय कदम है। ऐसी स्थिति में सेना भी अपना योगदान दे रही है। किसी भी आपात स्थिति में सेना ने आगे बढ़कर काम किया है। इस बार भी सेना देश की जनता के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

यह भी पढ़ें:  कोरोना महामारी के बीच आई नई मुसीबत, ऑक्सीजन भी होने लगी चोरी, पानीपत रिफाइनरी का टैंकर ले उड़े चोर

यह भी पढ़ें: 'सॉरी' लिखकर चोर ने लौटाई कोरोना वैक्सीन, हरियाणा में सामने आया चौकाने वाला मामला

 

यह भी पढ़ें: बेटी पूरे कर रहे टैक्सी चालक पिता के ख्‍वाब, भाई ने दिया साथ तो कामयाबी को बढ़े हाथ

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप