जागरण संवाददाता, समालखा : गांधी स्मारक निधि आश्रम पट्टीकल्याणा के कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को आचार्य विनोबा भावे की जयंती पर प्रभातफेरी निकाली। कार्यक्रम में प्राकृतिक जीवन केंद्र के मुख्य चिकित्सक डॉ. विकास सक्सेना ने उनके जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि विनोबा भावे सन् 1963 में आश्रम में आए थे, जिनसे मिलने तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू भी यहां पर आए थे। उन्होंने आश्रम की शांति और प्राकृतिक वातावरण देखकर यहां का नाम स्वाध्याय आश्रम रखा था। विनोबा जी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के सच्चे उत्तराधिकारी थे। ऐसे महान लोगों के जीवन से हमें बहुत कुछ सिखाना चाहिए। इस दौरान आश्रम द्वारा श्रमदान भी किया गया। इस मौके पर अजय श्रीवास्तव, रोशन लाल, धनराज, गिरिराज, राजेंद्र, प्रकाशी, विपिन, प्रसन्न, प्रभु मौजूद रहे।

Posted By: Jagran