जागरण संवाददाता, समालखा : जौरासी रोड पर अतिक्रमण हटाने से पहले नगरपालिका ने नाले का निर्माण शुरू कर दिया है। सालों से यह काम अतिक्रमण हटाने के कारण ही रूका था। लोकनिर्माण विभाग की सड़क होने के बावजूद भी उनके अधिकारी कुछ नहीं बोल रहे हैं। इससे अतिक्रमण को बढ़ावा मिलेगा। नाले के पीछे बने अस्थाई कब्जा स्थायी हो जाएगा। उल्लेखनीय है कि जौरासी रोड की चौड़ाई 33 से 44 फीट तक है। सड़क के दोनों ओर लोगों के दुकान और मकान हैं। अधिकांश ने दुकान और मकान के आगे चबूतरा व शेड बना लिया है। जौरासी रोड पर नाले निर्माण का बजट करीब छह साल पहले भी नपा के पास आया था। लोकनिर्माण विभाग ने रोड पर अतिक्रमण होने और रास्ते के अंतिम छोर पर नपा द्वारा नाले का निर्माण नहीं करने से काम रूकवा दिया था। नाले के लिए 10 लाख पास वार्ड-5 से पार्षद पति जयभगवान शर्मा का कहना है कि सड़क के दोनों ओर नाला बनना है इसके लिए एक ओर के नाले का काम शुरू हो चुका है। दूसरे ओर के नाले का बजट लगभग पास हो चुका है। पुरानी जगह पर ही नाला बनाया जाएगा। अतिक्रमण हटाने का काम नपा और लोक निर्माण विभाग का है। मौके का करेंगे मुआयना लोक निर्माण के जेई कर्मवीर ¨सह का कहना है कि नाला रोड के अंतिम छोर पर बनना चाहिए। नहीं तो पीछे की जमीन पर कब्जा हो जाएगा। उसका उपयोग नहीं हो सकेगा। वे मौके का मुआयना कर कार्रवाई करेंगे। मामला संज्ञान में नहीं : मित्तल नपा प्रधान के ससुर रमेश मित्तल का कहना है कि मामला संज्ञान में नहीं है। रोड की स्थिति देखकर जेई और एमई को टेक्निकल अप्रूवल देना होता है। निशानदेही और अतिक्रमण हटाने के बाद नाले का निर्माण होना चाहिए।