जागरण संवाददाता, पानीपत :

स्वच्छता सर्वेक्षण के पहले दिन निगम ने सार्वजनिक स्थानों पर लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के लिए बैनर पोस्टर लगाने का काम किया। चार जनवरी से देश के 4041 शहरों कस्बों में स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 शुरु हुआ है। अभियान के तहत प्रदेश में सर्वेक्षण टीम पहुंच गई। प्रदेश के 80 शहरों, कस्बों में सर्वेक्षण होना है। फरवरी माह के पहले सप्ताह में पानीपत में सर्वेक्षण टीम के पहुंचने की संभावना के चलते निगम ने स्वच्छता एप जारी की है। 15 दिनों के बाद बाजारों में रात को सफाई करने की योजना बनाई है। 26 जनवरी को डोर-टू-डोर कूड़ा उठाने की योजना है। लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरुक किया जाएगा।

उधर स्वच्छता सर्वेक्षण के पहले दिन सर्व संगठन सेवा संस्थान ने नगर निगम को आइना दिखाने के लिए जहां--जहां गंदगी के ढेर लगे हैं वहां पर सफाई व्यवस्था पर कटाक्ष करते बैनर लगाए। संस्थान के मेहुल जैन का कहना है कि स्वच्छता एप काम नहीं कर रही। सफाई कर्मचारियों की संख्या कम है। ऐसे में शहर की सफाई कैसे होगी। सर्वेक्षण में अच्छी रैकिंग कैसे मिलेगी।

वार्ड 20 के पार्षद पति सरदार बलजीत ने का कहना है कि वार्ड में सफाई नहीं की जा रही। स्वच्छता एप जारी करने, स्कूली बच्चों की जागरुकता रैली से सफाई नही हो सकती। नगर निगम के अधिकारियों को वास्तविकता का पता है। बिना सफाई कर्मचारियों के सफाई कैसे संभव होगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस