जागरण संवाददाता, समालखा:

दमकल विभाग का समालखा और बापौली खंड के 37 गांवों में 4.48 लाख रुपये अटके हैं। विभाग ने बीडीपीओ के माध्यम से सभी पंचायतों को नोटिस भेजा है। चार्ज नहीं जमा कराने पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। यह डाटा मार्च, 2010 से मार्च 2019 का है।

उल्लेखनीय है कि गर्मी के सीजन में फसल सहित दुकान और मकान में आग लगने की घटना बढ़ जाती है। दमकल विभाग आग बुझाने के लिए ग्राम पंचायतों से 400 रुपये प्रति घंटा के हिसाब से चार्ज लेता है। विभाग के बार-बार नोटिस के बावजूद पंचायत चार्ज जमा नहीं करा रही है। अब विभाग ने बीडीपीओ का सहारा लिया है। बकायादारों में 38,400 रुपये की देनदारी के साथ नारायणा पंचायत अव्वल है तो 30,400 रुपये के साथ डिकाडला दूसरे, 26,800 रुपये के साथ मनाना तीसरे और 25,000 रुपये के साथ शहरमालपुर चौथे नंबर पर है। इन पंचायतों पर है बकाया रकम

किवाना 16,000, मतरौली 10,000, करहंस 14,800, मच्छरौली 18,400, नामुंडा 11,200, ढोडपुर 6,000, जौरासी खास 11,200 और खालसा 12,000, पावटी 12,400, पट्टीकल्याणा 22,800, महावटी 9600, देहरा 17,600, खोजकीपुर 4800, राक्सेड़ा 11,200, हथवाला 11,600, आट्टा, 14,400, भोड़वाल माजरी और मतरौली 10,000, चुलकाना 23,200, ताहरपुर 12,800, ताजपुर 7600, ढिडार 7200, गढ़ीछाज्जू 9600, झट्टीपुर 11,200, बिहौली 19,600, हल्दाना और गढ़ी केवल 2000, कारकौली गढ़ 2400, गढ़ीत्यागयान और जीतगढ़ 4000, रमाल 3600, बिलासपुर 2800, टिटाना 400 और छदिया 1600 रुपये।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस