पानीपत/जींद, जेएनएन। हथवाला गांव के एक फाइनेंसर ने संदिग्ध परिस्थिति में जहर निगल लिया, जिससे उसकी मौत हो गई। मृतक की जेब से मिले सुसाइड नोट के आधार पर पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

हथवाला गांव का प्रदीप जुलाना में पुराने बस अड्डे पर फाइनेंसर का काम करता था। वह बुधवार सुबह दफ्तर में पहुंचा था। वहां प्रदीप को उल्टी और चक्कर आने लगे। आसपास के दुकानदारों ने उसे जुलाना के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में दाखिल कराया। जहां गंभीर हालत को देखते हुए डॉक्टरों ने उसे रोहतक पीजीआइ रेफर कर दिया। 

मिला सुसाइड नोट
सूचना मिलने पर परिजन भी पहुंचे। परिजनों ने प्रदीप को जींद के एक निजी अस्पताल में दाखिल कराया, जहां उसकी मौत हो गई। पुलिस को जांच के दौरान प्रदीप की जेब से एक सुसाइड नोट मिला। उसमें उसने लिखा कि मोखरा गांव के सोनू व काला ने 37 लाख रुपये, दिल्ली निवासी पवन और दिल्ली में एक्सईएन के पद पर तैनात सत्यनारायण ने 21 लाख रुपये ले रखे हैं। जब उसने चारों से रुपये देने के लिए कहा तो उन्होंने उसे तथा उसके परिवार को जान से मारने की धमकी दी। इसी कारण उसने जहर निगल लिया है। पुलिस ने प्रदीप के भाई जयभगवान की शिकायत पर सोनू, काला, पवन और सत्यानारायण के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

चार लोगों पर आरोप
प्रदीप जुलाना में फाइनेंसर का काम करता था। जहर खाने से उसकी जान गई है। प्रदीप की जेब से सुसाइड नोट मिला है, जिसमें चार लोगों पर रुपये लेकर न देने और उसे तथा उसके परिवार को जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

रामतीर्थ, जुलाना, थाना प्रभारी।

Posted By: Anurag Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस