जागरण संवाददाता, अंबाला। नवरात्रों से ही त्योहारों को सीजन की शुरुआत हो चुकी है। लेकिन इस बार लोगों बाजारों में महंगाई की मार झेलनी पड़ रही है। वहीं त्योहारी सीजन में करीब आ रहे करवा चौथ और दीपावली को लेकर बाजारों में ग्राहकों की तादात बढ़ने लगी है। बाजार में करावा चौथ की पूजा और महिलाओं के श्रृंगार के साथ दीपावली में पूजा व प्रसाद के लिए बताशे और खील की भी दुकानें सज चुकी है।

जानकारी के अनुसार पिछली दीपावली जो बताशा और खील 60 रुपए बिकी थी, वही इस बार 120 रुपए किलो के भाव से बिक रही है। एक बार में दो गुणा हुए दाम से दुकानदार भी परेशान है, दुकानदारों ने कहा कि महंगाई इस तरह बढ़ रही है कि जो ग्राहक पहले चार से पांच किलो खील व बताशे ले जाते थे वह इस बार एक से दो किलो की खरीद रहे हैं।

रंग बिरंगे मिट्टी के पात्र

छावनी की कुम्हार मंडी में तैयार होने वाले मिट्टी के पात्र को आकर्षक बनाने के लिए रंग करके तैयार कर दिया गया है। अब दीपावली और करवा चौथ में प्रयोग होने वाले मिट्टी के पात्रों के भी दुकानें सजने चुकी है। छावनी के सदर बाजार, राय मार्केट, गांधी मार्केट, बजाजा बाजार, राम बाजार के निकट, सर्राफा बाजार, महेशनगर, रामबाग रोड सहित अन्य स्थानों पर रेहड़ियों पर रंग बिरंगे मिट्टी के दीये बिकने लगे हैं।

कुम्हार मंडी में मिट्टी के दीये को रंगने का काम तेज

छावनी की कुम्हार मंडी में तैयार मिट्टी के दीये को रंगने का काम में तेजी आ गई है। अब बाजार में भी रंग बिरंगे दीये भी आ चुके हैं। इसके साथ दीपावली की पूजा में प्रयोग होने वाले मिट्टी के दीये व अन्य की खेप पहुंच चुकी है। साथ ही मिट्टी से बनी वस्तुओं को लेकर रेहड़ियों पर बेचने के कार्य में भी तेजी आ गई है।

Edited By: Naveen Dalal