कैथल, जेएनएन। कैथल के जिला लघुसचिवालय में सीएम के वीडियो कान्‍फ्रेंस उद्घाटन कार्यक्रम में पहुंची भाजपा की प्रदेश राज्यमंत्री कमलेश ढांडा के कार्यक्रम का प्रदर्शनकारी किसानों ने विरोध किया। उनके कार्यक्रम में आने की सूचना से पहले ही किसान लघु सचिवालय के गेट पर एकत्रित होना शुरू हो गए व सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। जैसे ही राज्यमंत्री की गाड़ी पहुंची, किसानों ने दूर से ही उन्हें काले झंडे दिखाए।

मौके की गंभीरता को देखते हुए जिला प्रशासन की तरफ से सचिवालय के मुख्य गेटों पर पुलिस बल तैनात कर दिया गया और किसानों को पुलिस ने करनाल रोड पर बैरिकेड लगाकर रोक लिया। पुलिस और किसानों के बीच तनाव रहा। लेकिन मौके पर एसडीएम संजय कुमार ने किसानों को समझाकर रोके रखा। प्रदर्शनकारी किसान होशियार गिल, रणबीर, रामकिशन ने कहा कि सरकार के हर कार्यक्रम का किसानों द्वारा विरोध किया जाएगा, जब तक सरकार तीनों कानूनों को वापस नहीं लेती है। जो मुख्यमंत्री मनोहर लाल वीडियो कान्‍फ्रेंस के माध्यम से लगभग 18 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का उद्घाटन कर रहे है। कलायत के सरकारी अस्पताल में स्टाफ भी नहीं है। इससे किसानों में रोष है।

इन कार्यक्रमों का किया है उद्घाटन

कलायत में लगभग 10 करोड़ 43 लाख रुपये से बने 50 बेड की क्षमता वाले सरकारी अस्पताल, तितरम में 3 करोड़ 73 लाख रुपए से बने 33 केवी सब स्टेशन, पाड़ला में 3 करोड़ 73 लाख रुपये से निर्मित 33 केवी सब स्टेशन का उद्घाटन किया है।

आमने सामने खड़े रहे पुलिस-किसान

पुलिस के कर्मचारी प्रदर्शनकारियों के सामने करनाल रोड पर खड़े रहे। करीब 11 बजे राज्यमंत्री की गाड़ी अपने काफिले के साथ पहुंची, जिसे किसानों ने काले झंडे दिखाए और नारेबाजी की। पुलिस ने उनको रोके रखा।

पूरी तैयारी में थी पुलिस

किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना राेकने के लिए पुलिस भी मुस्तैदी से तैनात थी। कार्यक्रम स्थल के अलावा आस-पास भारी पुलिस को तैनात किया हुआ था। महिला पुलिस कर्मचारी ने भी मोर्चा संभाला हुआ था। पुलिस ने कार्यक्रम स्थल तक वाहनों को नहीं आने दिया और उन्हें दूसरे रास्तों से भेजा गया। पिहोवा चौक, छोटू राम चौक, लघु सचिवालय न्यू करनाल रोड तक हर जगह पुलिस को तैनात किया हुआ था।

Edited By: Anurag Shukla