पानीपत, [विजय गाहल्याण]। विशेष जांच दल (एसआइटी) ने समालखा में गोदाम से शराब चोरी और तस्करी मामले में गिरफ्तार राजौंद के पूर्व विधायक व जजपा नेता सतविंद्र राणा व उनके साझीदार ईश्वर को आमने-सामने बैठाकर छह घंटे पूछताछ की। बताया जाता है कि शुरू में सीआइए-टू थाने में राणा एसआइटी के सवालों का जवाब देने से बचते रहे, जबकि ईश्वर ने सभी सवालों के जवाब दिए। बताया जाता है कि बाद में पंचकूला से लाए शराब गोदाम में हिस्‍सेदारी के कागज दिखाए जाने पर सतविंद्र राणा ने पूछताछ में सहयोग किया।

पंचकूला से लाया कागज देख कर राणा ने शराब गोदाम में अपनी हिस्‍सेदारी स्‍वीकार की

एसआइटी इंचार्ज डीएसपी राजेश फोगाट और सीआइए-टू के इंस्पेक्टर दीपक कुमार ने सतविंद्र राणा से पूछा- 'क्या गोदाम उनके नाम है? शराब चोरी करके कहां-कहां और कितने रुपये में बेची? उनके साथ कितने और लोग शामिल हैं? आबकारी विभाग के कितने अधिकारी और कर्मचारी शामिल हैं?' इसी बीच सीआइए-टू की टीम सतविंद्र राणा के पंचकूला स्थित कार्यालय से गोदाम से संबंधित कागज लेकर लौटी। एसआइटी ने फिर गोदाम का किरायानामा दिखा सवाल पूछे तो सतविंद्र राणा ने मान लिया कि गोदाम में उनकी हिस्‍सेदारी है। इसके बाद उन्‍होंने जांच में सहयोग किया।

चार राज्यों में बेची शराब, खरीदार भी डकार गए रुपये

पूछताछ में ईश्वर ने बताया कि जैमिनी डिस्टलरी पटियाला को लाइसेंस मिला था। ये डिस्टलरी गुरुग्राम में लगाई गई थी। वहीं पर रजिस्ट्रेशन कराया गया था। वर्ष 2016 में फर्म गुरुग्राम से समालखा में खोली गई। हैदराबाद के डाक्टर ने शराब का पेटेंट करा रखा है। फर्म को शराब बनाने का फार्मूला देते थे। इसकी एवज में मोटी रकम लेते थे। 2016 में आबकारी विभाग ने गोदाम को सील कर दिया था। गोदाम सील होने से पहले चार राज्यों में शराब बेची गई। उन लोगों ने भी लाखों रुपये नहीं लौटाए।  हाई कोर्ट में गोदाम खोलने की याचिका डाली, लेकिन कोर्ट ने कहा कि आबकारी विभाग से तालमेल करें। 

--------

एसआइटी को चार तस्करों समेत नौ की तलाश

ईश्वर व उसके गुर्गों ने गोदाम से शराब चोरी कर हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान व उत्तर प्रदेश के चार तस्करों को बेची। पूर्व विधायक सतङ्क्षवद्र राणा एसआइटी को स्पष्ट नहीं बता पाए कि उन्होंने कितने लाख रुपये की शराब बेची है। अब पुलिस के लिए इन तस्करों को पकडऩा और रुपये की रिकवरी चुनौती बन गई है। 

------------

ईश्वर ने लॉकडाउन में शराब चोरी कर दोस्तों संग की पार्टी, एक पेटी शराब बरामद

एक इंस्पेक्टर ने बताया कि 24 से 28 अप्रैल के बीच ईश्वर ने अपने गोदाम से शराब की 20 पेटी चोरी की। इस शराब से उसने दोस्तों संग खूब पार्टी की। इसके अलावा दोस्त भी जरूरत के हिसाब से गोदाम से शराब चोरी करके ले गए। एसआइटी ने ईश्वर की निशानदेही पर गोहाना के पास एक गांव के ट्यूबवेल से एक पेटी बरामद की।

पूर्व विधायक हैं शुगर के रोगी, दवा दिलाई

एसलआइटी ने बताया कि पूर्व विधायक सतविंद्र राणा शुगर से पीडि़त हैं। उन्हें दवा दिलाई गई है। इसके अलावा सतविंद्र राणा, ईश्वर व जेल जा चुके पांच आरोपितों का कोविड-19 का टेस्ट कराया गया। इसकी रिपोर्ट आनी बाकी है। शुक्रवार को पूर्व विधायक से मिलने स्वजन व परिचित सीआइए-टू पहुंचे। उधर, सतविंद्र राणा और ईश्वर ने सोनीपत के शराब माफिया भूपेंद्र से जान-पहचान होने से इन्कार किया है।

यह भी पढ़ें: राफेल फाइटर प्‍लेन के लिए अंबाला एयरबेस तैयार, अब पाकिस्‍तान को मिलेगा तगड़ा सबक

 

यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री योजना के नाम पर 15 हजार देने का झांसा, फर्जी लिंक भेज भरवाए जा रहे फार्म

 

यह भी पढ़ें: दुष्‍यंत चौटाला ने शराब मामले में गिरफ्तार सतविंद्र राणा पर दिखाए कड़े तेवर, कहा- दोषी हुए तो कड़ा Action


यह भी पढ़ें:हरियाणा में शराब के अवैध कारोबार से सियासी कनेक्शन, JJP नेता राणा की गिरफ्तारी से बड़े संकेत


यह भी पढ़ें:अब दो मंत्रियों में भिड़ंत, चन्नी बोले- बाजवा ने दी महिला IAS अफसर मामला खोलने की धमकी

 

यह भी पढ़ें:पूर्व MLA व जेजेपी नेता सतविंदर राणा शराब तस्‍करी में गिरफ्तार, छह पहले ही पकड़े जा चुके हैं

 


पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस