जागरण संवाददाता, पानीपत : बढ़ते प्रदूषण के कारण सरकार अब जिलों में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड कार्यालय खोलेगी। अभी तक बोर्ड के नौ कार्यालय ही हैं। बोर्ड के पास संसाधन व अधिकारी कम होने के कारण प्रदूषण पर नियंत्रण नहीं हो पा रहा है। एसडीओ स्तर के अधिकारियों को पदोन्नति दी गई है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के चेयरमैन अशोक खेत्रपाल ने आदेश जारी कर दिए हैं। साथ ही नए अधिकारियों की भर्ती का रास्ता भी साफ हो गया है। इन शहरों में काम कर रहे प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड

पंचकुला, यमुनानगर, पानीपत, सोनीपत, गुरुग्राम, फरीदाबाद, धारुहेड़ा, भिवानी, बहादुरगढ़, हिसार में कार्यालय हैं।

14 सहायक पर्यावरण अभियंता को मिली पदोन्नति

आरके भौंसले, राजेंद्र शर्मा, नितिन मेहता, संदीप सिंह, विरेंद्र सिंह पुनिया, शक्ति सिंह, दिनेश यादव, शैलेंद्र अरोड़ा, दिनेश कुमार, समिता कनोदिया, कमलजीत सिंह, पूनम लांगयान, विनय गौतम, विनय चौधरी। इन्हें पर्यावरण अभियंता बनाया गया है। चार पर्यावरण अभियंता को मिली पदोन्नति

चार पर्यावरण अभियंता को पदोन्नति मिली है। सतेंदर पाल, जतेंदर पाल, संजीव बुद्धिराजा व नवीन गुलिया को वरिष्ठ पर्यावरण अभियंता के पद पर पदोन्नत किया गया है। पदोन्नति के बाद जिलों में तैनात क्षेत्रीय अधिकारी

गुरुग्राम (साउथ), मानेसर, बहरामपुर- शक्ति सिंह

पानीपत - संदीप सिंह

पंचकूला - विरेंद्र पुनिया

हिसार - आरके भौंसले

भिवानी - दिनेश यादव

जींद - राजेंद्र शर्मा

फरीदाबाद - समिता कंदोलिया

बल्लबगढ़ - दिनेश कुमार

पलवल - विजय चौधरी

अंबाला - नितिन मेहता

धारुहेड़ा - कमलजीत सिंह

फतेहाबाद - पूनम लांग्यान

करनाल - शैलेंद्र अरोड़ा

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप