जागरण संवाददाता, पानीपत : ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान गरीबी उन्मूलन के लिए काम कर रहा है। युवक और युवतियों को प्रशिक्षण दिलाकर उन्हें बैंक से वित्त सहायता दिलाकर अपने पैरों पर खड़ा करने का काम कर रहा। इस संस्थान का भवन जिले के सिवाह गांव में चौटाला रोड पर बनाया गया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस भवन का उद्घाटन 11 अक्टूबर, 2017 को आनलाइन किया था। अब तक यह संस्थान 321 प्रशिक्षण शिविर लगाकर 7054 युवक युवतियों को प्रशिक्षण दिला चुका है। जिनमें से 1111 ने पंजाब नेशनल बैंक से सहायता लेकर अपने रोजगार शुरू किया है।

बालभवाना वासी 35 वर्षीय संजय ने बताया कि संस्थान से प्रशिक्षण प्राप्त करने उसने मधु मक्खी पालन को अपना व्यवसाय बनाया। 10 पेटियों से कार्य शुरु किया था तीन साल में उसने 50 पेटियां बना ली हैं। अपने साथ-साथ वह अन्य को भी रोजगार दे रहा है। साथ ही कइयों को रोजगार की राह दिखाई है। रोजगार से ही गरीबी उन्मूलन हो सकता है। 10 पेटी मधुमक्खी पालन से वर्ष भर में उसे शहद बेचने से एक लाख रुपये की आय होना शुरू हुआ जो अब पांच लाख रुपये तक पहुंच गई है। उसने स्नातक की शिक्षा प्राप्त करने के लिए स्वरोजगार की राह अपनाने का निश्चय किया। वह जयप्रकाश नारायण पंजाब नेशनल बैंक ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान के संपर्क में आया। उसने मधुमक्खी पालन का प्रशिक्षण लिया। जो उसे संस्थान में मुफ्त में दिलाया।

संस्थान के निदेशक जिले सिंह अहलावत का कहना है कि संस्थान से प्रशिक्षण प्राप्त 4210 युवक युवतियां स्वरोजगार कर रही है। अगरबत्ती निर्माण, अचार पापड़, मसाले से लेकर एल्युमिनियम फैब्रिकेशन, कारपेंटरी, पेपर कवर लिफाफा, कपड़ा बनाना, टीवी तकनीशियन, प्लम्बिग, एसी, फोटोग्राफी, लाइट मोटर व्हीकल ड्राइविग, घरेलू वायरिग कंप्यूटर हार्डवेयर नेट वर्किंग सिक्योरिटी अलारम, सीसीटीवी कैमरा इंस्टालेशन आदि के कार्यों का संस्थान प्रशिक्षण दिला रही है।

Edited By: Jagran