जागरण संवाददाता, पानीपत : ड्रेन नंबर दो के किनारे बसे सेक्टर 18 में लगे हजारों वृक्षों को काटकर नई सड़क बनाने की योजना की केंद्रीय पर्यावरण विभाग के अधिकारियों ने जांच की। योजना के विरोध में आरटीआइ एक्टिविस्ट पीपी कपूर ने केंद्रीय पर्यावरण व वन मंत्रालय को शिकायत दी थी। शिकायत की जांच करने के लिए केंद्रीय पर्यावरण एवं वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे। जांच अधिकारी एवं पर्यावरण विभाग के तकनीकी अधिकारी (फारेस्ट्री) रविन्द्र सिंह मौका मुआयना किया। इस दौरान उनके साथ जिला वन अधिकारी निवेदिता, फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर जयकिशन थे। मौके पर शिकायतकर्ता पीपी कपूर को भी बुलाया गया। मौका मुआयना कर जांच अधिकारी ने पीपी कपूर सहित पीडब्ल्युडी व सिचाई विभाग के अधिकारियों से योजना की जानकारी ली। जांच अधिकारी ने जांच की रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को सौंपी जाएगी।

क्या है मामला

गत 10 अगस्त 2019 को पीपी कपूर ने केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावेडकर को शिकायत भेजी थी। शिकायत में आरोप लगाया था कि सेक्टर-18 में ड्रेन के किनारे (जीटी रोड से बरसत रोड तक) लगे हजारों पेड़ काटकर सड़क बनाने की योजना बनाई गई है। यहां पहले से 100 फीट चौड़ी सड़क बनी हुई। नई सड़क बनने से हजारो वृक्षों कटने से पर्यावरण को नुकसान होगा। अधिकारियों ने इस प्रोजेक्ट का पर्यावरण व समाज पर क्या प्रभाव इसकी आवश्यक रिपोर्ट भी नहीं बनाई है। यहां सड़क बनाने की जरूरत नहीं है।

वर्जन

योजना की सीएम ने अनाउसमेंट की थी। अभी इस पर कोई काम नहीं हुआ है। सिचाई विभाग को जमीन देनी है। सिचाई विभाग सड़क के लिए जमीन देगा तो सड़क बनाने का काम होगा। जांच अधिकारी को हमने अपना पक्ष बता दिया है।

एसपी सिगला, एसडीओ

पीडब्ल्यूडी(बीएंडआर) पानीपत।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस