पानीपत, जेएनएन। पानीपत डायर्स एसोसिएशन के प्रधान भीम राणा ने हशविप्रा सेक्टरों में लगाए गए एन्हांसमेंट पर ब्याज माफ करने का स्वागत करते हुए कहा कि एन्हांसमेंट की गणना भी ठीक की जाए। साथ ही नोटिफिकेशन में कामन एरिया के एन्हासमेंट को कम किया जाए। राणा थर्मेक्स इंडिया लिमिटेड कंपनी तथा पानीपत डायर्स एसोसिएशन के संयुक्त सेमिनार में बोल रहे थे।

सेमिनार का विषय वाटर मैनेजमेंट था। गिरते भू जल स्तर को देखते हुए पानी का उद्योगों में कम से कम प्रयोग तथा ऊर्जा संरक्षण को बढ़ावा कैसे मिल सकता है। विषय पर विशेषज्ञों विस्तार से जानकारी दी। वाटर मैनेजमेंट के गुर उद्यमियों को सिखाए गए। साथ उद्योगों में ब्वॉयलर चलाने में खपत होने वाले ईंधन की बचत के तरीके बताए गए। दिल्ली से आए थर्मेश कंपनी के राम कृपाल कुशवाहा तथा नितिन चौधरी ने बताया कि पानी के संकट को देखते हुए उसका दोबारा प्रयोग करना जरूरी है। इससे उद्योगों की लागत भी कम होगी। साथ ही पर्यावरण का बचाव होगा। कंपनी का प्रयास है कि कम से कम लागत में अधिक एनर्जी उद्योगों की मिले।

सेमिनार में बताया गया कि उद्यमियों की दो मुख्य मांगे चल रही थी। जिसमें सेक्टर 25 पार्ट-1-2 में सीटीपी लगाना तथा चौटाला रोड की सड़क बनवाने संबंधी थी। विधायक रोहिता रेवड़ी तथा महिपाल ढांडा के प्रयास से दोनों ही मांगे स्वीकृत हो गई है। माल के सामने 10 एमएलडी का सीटीपी बनाने की मांग स्वीकृत की गई है। साथ ही चौटाला रोड पर जाने वाली सड़क का निर्माण भी शुरू हो गया। अब शहर में नो एंट्री के दौरान माल लाने ले जाने वाले वाहन नहीं फंसेंगे। चौटाला रोड से ही माल सेक्टरों में पहुंच सकेगा। इस अवसर पर मुकेश रेवड़ी, राजेश जैन, नितिन अरोड़ा, रामप्रताप, संजीव मनचंदा, नरौत्तम अग्रवाल, शिव मल्होत्रा, तरुण गांधी आदि मौजूद रहे।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप