जागरण संवाददाता, पानीपत : बिजली निगम ने किसानों के नलकूप तक लाइन खड़ा करने के लिए टेंडर जारी कर दिया है। ठेकेदार को छह माह में काम पूरा करने के निर्देश दिए हैं। पानीपत के डार्क जोन में आने से 2015 से इनका कनेक्शन लंबित पड़ा था। लाइन खड़ा होने के बाद किसानों को जल्द से जल्द कनेक्शन जारी कर दिए जाएंगे।

उल्लेखनीय है कि 2015 से 2018 तक खेतों में नलकूप लगाने के लए किसानों ने बिजली निगम में आवेदन दिया था। 2018 में वाटर लेवल नीचे जाने से सरकार ने पानीपत को डार्क जोन घोषित कर दिया। तीन सालों से सुरक्षा राशि सहित दस्तावेज जमा करने वाले किसानों के मंसूबे पर पानी फिर गया। उनके सामने फसलों की सिचाई की समस्या खड़ी हो गई। विधायकों के विधानसभा में मुद्दा उठाने के बाद करीब छह माह पहले सरकार ने पानीपत को डार्क जोन से बाहर किया है। किसानों के लंबित नलकूप कनेक्शनों को जारी करने की हरी झंडी मिली है। इसराना, पानीपत और मतलौडा में किसानों की संख्या अधिक होने से टेंडर की राशि बढ़ गई तो चीफ इंजीनियर से उनकी मंजूरी लेनी पड़ी। मंजूरी मिलने के बाद निगम ने टेंडर जारी किया है। यहां के इतने कनेक्शन

बिजली लाइन खड़ी होने से इसराना के 198, पानीपत के 126 और मतलौडा के 52 किसानों को इसका फायदा होगा। लाइन बिछने के बाद जल्द से जल्द किसानों को कनेक्शन जारी कर दिए जाएंगे। ठेकेदार को निगम के शर्त के अनुसार मैटेरियल लगाना होगा। छह माह में काम होगा पूरा

अधीक्षण अभियंता डीएस छिक्कारा ने बताया कि टेंडर की राशि अधिक होने से यह लंबित पड़ी थी। अब उच्चाधिकारी ने टेंडर लगाने की अनुमति दे दी है। टेंडर लगा दिया गया है। ठेकेदार को छह माह के भीतर काम पूरा करने कहा गया है। काम पूरा होते ही किसानों को कनेक्शन जारी कर दिए जाएंगे।

Edited By: Jagran