जागरण संवाददाता, पानीपत : टूरिस्ट वीजा पर दुबई गए एक युवक का सेक्टर 13-17 थाना क्षेत्र निवासी एक युवती से रिश्ता तय हुआ। पासपोर्ट बनने में कुछ अड़चन आई तो आरोपित रिश्ता तोड़ने की धमकियां देने लगा। परिजनों ने टेक्निकल खामी दूर कराकर किसी तरह पासपोर्ट बनवाया तो आरोपित के परिजनों ने बेटे की शादी करने से इंकार कर दिया। अब महिला थाना पुलिस ने युवती के पिता की शिकायत पर आरोपित, उसके मां रेखा, पिता मोहन, बहन टीना और जीजा चेतन के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पिता ने बताया कि उसने 10 माह पहले फरीदाबाद के हितेश के साथ बेटी का रिश्ता तय किया था। बेटी अक्सर आरोपित और उसके परिजनों से फोन पर बातचीत करती थी। दोनों पक्षों की रजामंदी से 18 मई 2019 को शादी तय हो गई। आरोपित युवक ने फोन पर ही बेटी का पासपोर्ट बनवाने की बात कही। पासपोर्ट बनवाने में कोई टेक्निकल खामी आई तो आरोपित युवक उनके ऊपर दबाव बनाने लगा। दहेज की एवज में महंगी घड़ी और कार मांगने लगा। बेटी ने आरोपित और उसके परिजनों का विरोध किया तो उन्होंने पासपोर्ट के बिना रिश्ता नहीं करने की बात कही। 2 अप्रैल 2019 को कॉल करके रिश्ता तोड़ दिया। दोनों पक्षों में सुलह करवाने के लिए दो बार पंचायत हुई, लेकिन उसके बावजूद भी आरोपित नहीं माने। थाना प्रभारी एसआई नेहा राठी ने बताया कि आरोपितों की तलाश जारी है। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। छप चुके थे कार्ड, बुक हो चुके थे हलवाई और गार्डन

युवती के पिता ने बताया कि बेटी की शादी के लिए वह कार्ड तक छपवा चुका था। शादी समारोह के लिए हलवाई को दो लाख रुपये एडवांस दे दिए। वहीं सचदेवा गार्डन भी बुक करवा लिया था। पंचायत में उसने आरोपितों को ये सब बातें बताई, लेकिन फिर भी आरोपितों ने उसकी बात नहीं मानी। आरोपित उन्हें जान से मारने की धमकी देने लगे तो मजबूरन उसे पुलिस कार्रवाई करनी पड़ी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप