उचाना (जींद), संवाद सूत्र। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि ट्रांसपोर्ट कार्पोरेशन आफ इंडिया का चालक प्रशिक्षण संस्थान स्थापित करने के संबंध में सरकार को प्रस्ताव प्राप्त हो चुका है। यह चालक प्रशिक्षण संस्थान उचाना में स्थापित किया जाएगा, इसके लिए उचाना की उन ग्राम पंचायतों से प्रस्ताव मांगे गए है जहां 30 एकड़ भूमि की उपलब्धता है। भूमि उपलब्ध होते ही करीब 40 करोड़ रुपये की लागत से उक्त संस्थान का निर्माण करवाया जाएगा।

इस संस्थान में यातायात संबंधित आधारभूत तकनीकी जानकारी के साथ-साथ युवाओं को वाहन चालक का प्रशिक्षण भी दिलवाया जाएगा। जिससे इलाके के युवाओं को कौशल विकास करने और रोजगार प्राप्ति के लिए अनेक अवसर प्राप्त होंगे। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला सोमवार को उचाना के जजपा कार्यालय में लोगों की समस्याएं सुन रहे थे।

उन्होंने कहा कि उपमंडल के गांव खेड़ी मसानिया में भी पंचायती राज विभाग का करोड़ों रुपये की लागत से कार्य कुशलता इंजीनियरिंग केन्द्र स्थापित करने का प्रावधान है। इसके लिए ग्राम पंचायत द्वारा 20 एकड़ जमीन विभाग को उपलब्ध करवा दी गई है। यह केंद्र नीलोखेड़ी में स्थापित केंद्र की तर्ज पर बनाया जाएगा। इसमें ग्राम सचिव, बीडीपीओ, एसडीओ, एक्सईएन सहित अन्य विभागीय कर्मचारियों एवं अधिकारियों को ट्रेनिंग दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि उचाना में राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण का सर्विस लेन बनाने का कार्य अभी प्रगति पर है जिसे एक महीने में पूरा करवाने के लिए प्राधिकरण को निर्देश दिए गए है, इस कार्य के पूरा होने पर उचाना के बस अड्डा को सुचारू रूप से क्रियाशील किया जाएगा। इसके अलावा पुलिस विभाग को भी शहर में अन्य गैर मान्यता प्राप्त बस स्टोपिंग को पूर्ण रूप से बंद करवाया जाएगा और बसों को आवागमन एवं रुकना केवल बस अड्डा पर ही होगा।

उपमुख्यमंत्री ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को शहर में बेहतर क्वालिटी की स्ट्रीट लाइट लगवाने के लिए यथाशीघ्र एस्टीमेट बनाने के निर्देश दिए ताकि रात्रि के व्यक्त पूरा शहर रोशनी की दृष्टि से चाक चौबंद रहे। इसके अलावा उन्होंने बताया कि सफाई व्यवस्था का भी कार्य प्रगति पर है, इसके लिए एस्टीमेट तैयार किए जा चुके है और निकट भविष्य में पूरे प्रदेश में स्ट्रीट लाइटों तथा सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करवाई जाएगी।

गरीब, किसान का विकास गठबंधन सरकार की प्राथमिकता

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि गांव, गरीब एवं किसान का विकास मौजूदा गठबंधन सरकार की पहली प्राथमिकता है। इस दिशा में सरकार द्वारा गांव के विकास और आर्थिक, सामाजिक एवं शैक्षणिक स्तर पर पिछड़े लोगों के कल्याण के लिए ठोस कदम उठाए जा रहे है। किसानों की सुविधा के लिए सरकार द्वारा 31 मई तक गेहूं खरीद प्रक्रिया जारी रखने का फैसला किया है।

Edited By: Anurag Shukla