जागरण संवाददाता, पानीपत : शरीर में खून साफ करना, हार्मोन बनाना, मिनरल का अवशोषण, यूरिन बनाना, टॉक्सिन्स निकालना, एसिड का संतुलन किडनी का काम है। सीधा अर्थ, यह हमारे शरीर का महत्वूपर्ण अंग है। खराब जीवनशैली, खानपान, मोटापा, पानी कम पीना किडनी रोगों को बढ़ावा देता है। अपने शरीर के अंगों का हम ख्याल रखेंगे, तभी हम स्वस्थ रहेंगे। दैनिक जागरण के हेलो जागरण कार्यक्रम में सेक्टर 13-17 स्थित द किडनी हॉस्पिटल के डा. भूपेंद्र कादियान ने सुधी पाठकों के प्रश्नों के उत्तर देने से पहले यह जानकारी दी।

गांव जौंधन कलां से आजाद सिंह ने कहा कि पत्नी की पित्त की थैली में पथरी है, क्या उपचार है।

ऑपरेशन ही समाधान है। दूरबीन से सर्जरी होती है, मरीज दूसरे दिन घर के सामान्य कार्य कर सकता है। सेक्टर-6 वासी जितेंद्र ने पूछा कि पित्त की थैली में पथरी है, बहुत दर्द होता है, क्या किया जाए।

सर्जरी कराएं, स्टोन अगर छोटे हैं तो कभी भी पेशाब की नली में फंस सकते हैं। उस समय दर्द असहनीय होगा, तब तीन सर्जरी करानी पड़ेगी अंसल सोसाइटी वासी मनीष ने पूछा कि कोरोना केस बढ़ रहे हैं। किडनी रोगियों को संक्रमण का कितना खतरा है।

किसी भी बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति को कोविड का खतरा ज्यादा है। बुखार-खांसी है तो टेस्ट जरूर कराएं। मल्टी विटामिन और भाप लें। सेक्टर-छह से सुंदर ने पूछा कि मुझे शुगर है, इससे किडनी को नुकसान तो नहीं होगा।

शुगर से आंखों, पैर की नसों को नुकसान पहुंचता है। तीन-चार माह में किडनी फेल की स्थिति बन सकती है। हर तीसरे माह जांच कराएं। विकास नगर निवासी मुकेश ने पूछा कि डाक्टर ने एक किडनी सिकुड़ी हुई बताई है। क्या डायलिसिस करानी होगी।

दोनों किडनी सिकुड़ने पर ब्लड फिल्टर नहीं होगा। इसके लिए आपको समय-समय पर डायलिसिस करानी होगी। एनएफएल कालोनी से अनिल ने कहा कि पिता के पेट में दर्द रहता है। यह किडनी रोग के लक्षण तो नहीं है।

किडनी भी पेट का हिस्सा है। सबसे पहले आप पिता का का अल्ट्रासाउंड कराएं ताकि दर्द की असली वजह पता चले। इसराना से रामफल ने कहा कि मुझे हर दस मिनट में पेशाब आ रहा है। मेरा इलाज भी आपके अस्पताल से चल रहा है।

पहले आप पेशाब की नली लगवाएं। पेशाब की थैली में गांठ है, उसके लिए ऑपरेशन कराना होगा। अंसल सोसाइटी निवासी अरविद और जलालपुर से साकेत ने कहा कि किडनी में सात एमएम की पथरी है, क्या सर्जरी करानी पड़ेगी।

सात-आठ एमएम की पथरी दवा सेवन से भी निकल जाती है। सबसे पहले आप अल्ट्रासाउंड कराएं, रिपोर्ट देखकर ही पता चलेगा। किडनी में सूजन है तो ऑपरेशन कराना पड़ेगा।

---------------

ये हैं किडनी के कार्य

-विषैले पदार्थो को शरीर में जमने नहीं देना

-सोडियम, पोटेशियम और फॉस्फेट की मात्रा को नियंत्रित करना

-हड्डियों को मजबूत करने वाले हार्मोंस का निर्माण करना

-दिल की कार्य क्षमता में वृद्धि

-रक्त में पानी की मात्रा को नियंत्रित रखना

-----------------

इन बातों का रखें ध्यान

-रक्तचाप-शुगर को नियंत्रित रखें

-अनावश्यक दर्द निवारक गोली न खाएं।

-नमक और मीठा का सेवन कम करें।

-मांस का सेवन कम से कम करें।

-चाकलेट, कोको, कोल्ड ड्रिक्स, चाय कम पिएं।

----------------

इनका सेवन खूब करें

-नारियल पानी खूब पिएं।

-गाजर और करेला की सब्जी ज्यादा खाएं।

-केला खाए, इसका जूस भी पिएं।

-ओट्स का सेवन करें, इसमें पथरी रोधक गुण।

-बादाम खाएं, इसमें पोटेशियम-मैग्नेशियम भरपूर।

-हर दिन 10-12 गिलास पानी पिएं।

----------------

किडनी रोग के लक्षण

-चेहरे पर सूजन

-भूख में कमी, मितली, उल्टी

-उच्च रक्तचाप

-पेशाब पीला आना, जलन

-रक्त की कमी और कमजोरी

-पीठ के निचले हिस्से में दर्द

-शरीर में दर्द और पैरों में ऐंठन

------------

संक्षिप्त परिचय

नाम : डा. भूपेंद्र कादियान

एमबीबीएस : राजीव गांधी यूनिवर्सिटी कर्नाटका

एमएस : डीवाई पाटिल कालेज, पुणे

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप