पानीपत/करनाल, जेएनएन। प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि विपक्ष की ओर से लगाए जा रहे कथित धान घोटाले के आरोप सिरे से निराधार हैं। ऐसी शिकायत सामने आने के बाद से अब तक प्रदेश सरकार दो बार धान स्टॉक की फिजिकल वेरीफेकिेशन करा चुकी है। जरूरी हुआ तो तीसरी और चौथी बार भी ऐसा कराया जा सकता है। भ्रष्टाचार किसी स्तर पर बर्दाश्त नहीं होगा। 

बुधवार को यहां आयोजित सर छोटूराम जयंती समारोह में शिरकत के बाद संवाददाताओं से वार्ता में उप मुख्यमंत्री ने कहा कि भ्रष्टाचार चाहे सरकारी महकमों के अंदर हो या बाहर, किसी भी स्तर पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। एक्साइज अधिकारियों से लेकर तहसीलदार स्तर तक के अफसरों पर फौरी कार्रवाई इसी का प्रमाण है। इसके अलावा प्रदेश के सभी जिलों में राजस्व दिवस मनाने की शुरुआत भी इसी सिलसिले की अहम कड़ी है। 

नहीं बख्शा जाएगा

इसमें कोताही बरतने वालों को कतई बख्शा नहीं जाएगा। जहां तक विपक्ष की ओर से धान घोटाले का मुद्दा बार-बार उठाने का सवाल है तो ऐसे किसी घोटाले का आरोप पूरी तरह निराधार है। प्रदेश सरकार आम जनता तक सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत धान और अन्य सभी प्रकार के अनाज पहुंचाने के लिए प्रतिबद्ध है। इसी सोच के साथ दो बार राइस मिल्स के स्टॉक का फिजिकल वेरीफिकेशन कराया जा चुका है। आवश्यकता पडऩे पर फिर ऐसा किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि हरियाणा में तो यह कार्य पूरी पारदर्शिता से हो रहा है, बेहतर होगा कि अन्य राज्य भी अपने यहां ऐसा कराएं। डिप्टी सीएम ने सड़क निर्माण और अन्य विकास कार्यों में अनियमितता के मामले सामने आने से जुड़े सवाल पर कहा कि इसे लेकर सरकार का रुख पूरी तरह गंभीर है। जहां भी तथ्यों के साथ शिकायत सामने आएगी, जांच व ठोस कार्रवाई के लिए तत्काल तमाम कदम उठाए जाएंगे। 

Posted By: Anurag Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस