कैथल, जागरण संवाददाता। कैथल के गुहला के विधायक ईश्वर सिंह की सड़कों के निर्माण को लेकर चल रही नाराजगी पर उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अगर सबसे ज्यादा कहीं सड़कों पर काम हुआ है तो वह गुहला हलका है। अभी तक 42 सड़कों का निर्माण कराया जा चुका है। इससे ज्यादा कहीं और काम नहीं हुआ।

पार्टी इस मामले में कार्रवाई करेगी

सड़क निर्माण की प्रक्रिया समझाते हुए दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सड़कें बनने की अपनी एक समयानुसार प्रक्रिया होती है। आनलाइन टेंडर लगाए जाते हैं। नियम होते हैं और उन्हें फालो करना ही पड़ता है। जैसे-जैसे पोर्टल पर टेंडर प्रक्रिया आगे बढ़ेगी, सड़कें बन जाएंगी। मैं या आप जाकर तो ऐसे ही अपने पसंद के आदमी को नहीं दे सकते। उपमुख्यमंत्री देर शाम कैथल में एक कार्यकर्ता के निवास पर पहुंचे थे। नरवाना के विधायक रामनिवास सुरजाखेड़ा के मुख्यमंत्री से मिलने के बारे में दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पार्टी इस मामले में कार्रवाई करेगी।

उन्होंने कहा कि विधायक ईश्वर सिंह की नाराजगी का टापिक तीन सड़कों का है। उनके लिए भी प्रशासनिक स्वीकृति दी जा चुकी है और यह उनको बता भी दिया गया है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि वह खुद गुहला में गए थे और कैथल-चीका रोड को तत्काल बनाने के आदेश दिए थे। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि ईश्वर सिंह उनके परिवार के बड़े हैं। अगर वह नाराज हैं तो उन्हें मना लिया जाएगा।

बता दें कि गुहला के विधायक ईश्वर सिंह ने हलके की सड़कों की खस्ताहालत को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा था कि वह तब तक पार्टी के किसी कार्यक्रम में नहीं जाएंगे, जब तक सड़कें बन जाती। उन्होंने कहा था कि उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला उनकी पार्टी से हैं और उन्हीं के पास पीडब्ल्यूडी विभाग है। वह कई बार उन्हें गुहला हलके की सड़कों के बारे में बता चुके हैं, लेकिन फिर भी उनकी सुनवाई नहीं हुई। इसके चलते वह नाराज हैं।

पत्रकारों से बातचीत में दुष्यंत चौटाला ने कहा कि प्रदेश में युवाओं को प्राथमिकता के आधार पर नौकरी दी जा रही है। हमारे यहां बड़ा निवेश आया है। 26 हजार करोड़ का निवेश हुआ है, जो अभी तक सबसे बड़ा निवेश है। काेरोना काल में प्राइवेट कंपनियों में समस्या आई थी, लेकिन अब सब ठीक हो रहा है और कंपनियां अपनी इमारतों में लौट रही हैं।

Edited By: Naveen Dalal