करनाल, जागरण संवाददाता। करनाल में डेंगू के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। मंगलवार को सात नए मामले सामने आए हैं, जबकि एक मरीज की उपचार के दौरान मौत हो गई। कुल मिलाकर अब तक रिकार्ड 268 केस डेंगू के जिले में हो चुके हैं। बढ़ते डेंगू के आंकड़े को रोकने में स्वास्थ्य विभाग नाकाम साबित हो रहा है। हालांकि टीमें एंटी लारवा एक्टिविटी के लिए लगी हुई हैं, बावजूद इसके डेंगू काबू में नहीं आ पा रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने संभावना जताई है कि आने वाले एक सप्ताह के बाद डेंगू के केसों में कमी आ सकती है। क्योंकि तापमान 10.0 डिग्री से नीचे आया गया है। अब यह धीरे-धीरे ओर गिरेगा। ऐसी स्थिति में मच्छर जिंदा रहने की संभावना बहुत कम हो जाती है।

अब तक 4025 सैंपलों की हो चुकी जांच

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक जिले में औसत 80 से 90 सैंपलों की रोजाना जांच हो रही है। अब तक 4025 सैंपलों की जांच की जा चुकी है, जिसमें से 286 केस पाजीटिव मिल चुके हैं। इस समय बुखार के 137 मरीज दाखिल हैं, 24 डेंगू के केस दाखिल हैं। 

3.59 लाख से अधिक घरों की जांच

स्वास्थ्य विभाग ने इस डेंगू के सीजन में एंटी लारवा एक्टिविटी के तहत 3 लाख 59 हजार 536 घरों को चेक किया जा चुका है, जिनमें से 6625 घरों में डेंगू का लारवा पाया गया है। 3908 लोगों को स्वास्थ्य विभाग ने नोटिस जारी किए हैं। डेंगू जागरूकता को लेकर 5290 पंपफ्लेट बांटे जा चुके हैं, जबकि 21 जगहों पर डेंगू से बचाव के लिए होर्डिंग्स लगाए गए हैं। 80 तालाबों में गंबुजियां मछलियां छोड़ी गई हैं, जो मच्छर के लारवा को खा जाती हैं।

किस क्षेत्र से कितने आए डेंगू के केस

क्षेत्र का नाम        केसों की संख्या

करनाल                     105

असंध                         05

घरौंडा                        07

इंद्री                           22

नीलोखेड़ी                   04

कुंजपुरा                      21

निसिंग                        22

तरावड़ी                      08

बल्ला                          02

कुल                          199

नोट : यह आंकड़े स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए गए हैं।

जिले में डेंगू के केसों की स्थिति

वर्ष             डेंगू के केस

2010             72

2011             01

2012             14

2013             185

2014             03

2015             215

2016             23

2017             234

2018             106

2019             29

2020             93

2021             268

नोट : यह आंकड़े स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए गए हैं।

Edited By: Rajesh Kumar