करनाल, जेएनएन। करनाल में राष्ट्रीय राजमार्ग पर तरावड़ी में एक गुरुद्वारे के पास बंद बोरे में शव मिलने से सनसनी फैल गई। सुबह जब राहगीर वहां से गुजरे तो बोरे से दुर्गंध आने लगी। लोगों ने तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी। एसएचओ कुलबीर कौर टीम सहित मौके पर पहुंची। पुलिस ने अज्ञात आरोपित के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। हालांकि शव की पहचान नहीं हो पाई, जिसके चलते शव को 72 घंटे के लिए र्मोचरी हाउस में रखवाया गया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

जानकारी के मुताबिक अंबाला से दिल्ली जाने वाले नेशनल हाईवे किनारे लोगों ने सुबह एक बंद बोरा पड़ा देखा। बोरे में से दुर्गंध आ रही थी। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और जब बोरा खोलकर देखा तो बोरे से शव बरामद हुआ। बताया जा रहा है कि मृतक के पैर बांधे हुए थे और शरीर पर चोट के कई निशान भी मिले हैं। लेकिन पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में ही यह पता चल पाएगा कि मृृतक की मौत कब और किन कारणों से हुई। इस हालत में शव मिलने से समूचे क्षेत्र में सनसनी फैल गई है।

एफएसएल टीम ने लिए नमूने

मधुबन से एफएसएल की टीम को भी मौके पर बुलाया गया। टीम ने सभी नमूने एकत्रित किए गए। अंदाजा लगाया जा रहा है कि पहले हत्या की गई और फिर लाश को बंद बोरे में डालकर जीटी रोड किनारे फेंक दिया। मृतक के गले मे लाल धागा भी बंधा हुआ मिला। यह हत्या है या हादसा, इसका रहस्योद्घाटन तो पुलिस जांच में ही होगा। एसएचओ कुलबीर कौर का कहना है कि शव गली सड़ी हालत में मिला है। अज्ञात के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद ही यह पता चल पाएगा कि हत्या कब की गई और कैसे की गई। रिपोर्ट आने के बाद ही जांच कार्रवाई में तेजी लाई जाएगी।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ेंः आपसे जुड़ी है खबर, कोरोना संक्रमण से फलों की मांग बढ़ी, आपूर्ति कम होने से भाव तेज

यह भी पढ़ेंः कोरोना का कहर... कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में 30 अप्रैल तक के लिए ऑफलाइन कक्षाएं बंद

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप