करनाल, जेएनएन। करनाल में सनसनीखेज मामला सामने आया है। आरकेपुरम गली नंबर पांच स्थित घर में एक व्यक्ति का क्षत-विक्षत शव मिला है। मृतक करीब 68 वर्षीय बलदेव सिंह हरियाणा औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान पूंडरी से प्रिंसिपल के पद से वर्ष 2010 में सेवानिवृत्त हुए थे। वे मूलरूप से पंजाब के होशियारपुर के रहने वाले हैं। यहां वे बच्चों से अलग अकेले ही रह रहे थे। पुलिस के अनुसार पोस्टमार्टम के बाद स्पष्ट हो पाएगा कि उनकी मौत कितने दिन पहले और कैसे हुई है।

पड़ोस में रहने वाले प्रवीन कुमार व विकास कुमार के मुताबिक उन्हें पिछले दो दिन से बलदेव सिंह के घर से दुर्गंध आ रही थी। घर से बड़ी संख्या में मक्खियां निकल रही थीं। कुछ अनहोनी की आशंका पर उन्होंने पुलिस को सूचना दी। सेक्टर नौ पुलिस चौकी से टीम पहुंची तो शव सिंगल बेड पर पड़ा हुआ मिला। शव पूरी तरह से फूला हुआ था। आशंका जताई जा रही है कि शव करीब एक सप्ताह पुराना है। पुलिस ने शव कल्पना चावला राजकीय अस्पताल स्थित मोर्चरी हाउस में रखवाया। सोमवार को शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा।

पत्नी पठानकोट में बेटे के पास गई थी

बताया जा रहा है कि बलदेव सिंह घर में अकेले रह रहे थे। उनका एक बेटा गुरविंद्र सामने ही स्थित दूसरे घर में रहता है। वहीं, दूसरा बेटा गुरमीत पठानकोट स्थित एक कंपनी में इंजीनियर है। बलदेव सिंह की पत्नी विद्यावती भी कईं दिनों से बेटे के पास पठानकोट गई हुई थीं। सूचना मिलते ही उनका बेटा गुरविंद्र मौके पर पहुंच गया, जबकि गुरमीत सिंह को भी सूचना दे दी गई।

हार्ट अटैक से मौत की आशंका : सुरेंद्र कुमार

सेक्टर नौ पुलिस चौकी इंचार्ज सुरेंद्र कुमार का कहना है कि बलदेव सिंह का शव करीब एक सप्ताह पुराना लग रहा है। शव बेड पर ही मिला है। बलदेव की मौत हार्ट अटैक से होने की आशंका है। लेकिन सही कारण व पुख्ता जानकारी पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही पता चल पाएगी। परिवारिक तौर पर पूरी जानकारी उनकी पत्नी व बेटे के आने के बाद ही मिल सकेगी। उन्हें सूचना दे दी गई है। शव का सोमवार को पोस्टमार्टम कराया जाएगा। 

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ेंः आपसे जुड़ी है खबर, कोरोना संक्रमण से फलों की मांग बढ़ी, आपूर्ति कम होने से भाव तेज

यह भी पढ़ेंः कोरोना का कहर... कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में 30 अप्रैल तक के लिए ऑफलाइन कक्षाएं बंद

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप